logo
Breaking

ब्रेकिंग : राजिम कुंभ संशोधन विधेयक 62 मतों से पारित, सदन की अगली बैठक होगी अब 8 फरवरी को...

सदन में राजिम संशोधन विधेयक पारित हो गया है. संशोधन प्रस्ताव के पक्ष में 62 मत और विपक्ष में 8 मत पड़े हैं. विधेयक पारित होने के विरोध में विपक्ष ने सदन से बहिर्गमन कर लिया. इसके साथ ही सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई है. अगली बैठक अब 8 फ़रवरी को होगी.

ब्रेकिंग : राजिम कुंभ संशोधन विधेयक 62 मतों से पारित, सदन की अगली बैठक होगी अब 8 फरवरी को...

गौरव शर्मा, रायपुर. सदन में राजिम संशोधन विधेयक पारित हो गया है. संशोधन प्रस्ताव के पक्ष में 62 मत और विपक्ष में 8 मत पड़े हैं. विधेयक पारित होने के विरोध में विपक्ष ने सदन से बहिर्गमन कर लिया. इसके साथ ही सदन की कार्यवाही स्थगित हो गई है. अगली बैठक अब 8 फ़रवरी को होगी. अब राजिम कुंभ का नाम राजिम माघी पुन्नी मेला कर दिया गया है,

बता दें कि सदन में राजिम कुंभ संशोधन विधेयक पर विपक्ष ने मताविभाजन का प्रस्ताव रखा. मताविभाजन की मांग के बाद सदन में विपक्ष ने मतदान की शुरुआत कर दी. बता दें कि राजिम कुंभ के नाम को बदलकर राजिम पुन्नी रखने पर विपक्ष के नेता अजय चंद्राकर ने जमकर नाराजगी जाहिर की.

अजय चंद्राकर ने सवाल करते हुए कहा कि इस विधेयक में कहा गया है कि शास्त्र सम्मत नहीं है. सरकार बताये कि किस शास्त्र के सम्मत नहीं है. अजय चंद्राकर ने आगे कहा कि छठवीं शताब्दी में व्हेनसांग छत्तीसगढ़ आए थे. संस्कृति विनिमय से समृद्ध होती है.

सरकार कैसे कह सकती है कि लोगों के आने या राजिम कुंभ से प्रदेश की संस्कृति सिमटने लगी? चार कुंभों का उल्लेख राजा विक्रमादित्य से प्रारंभ होता है. परंपराएं हम स्थापित करते हैं. राजिम कुंभ के माध्यम से हमने ऐसे आयोजनों को राजसंरक्षण देने का कार्य किया.

Share it
Top