logo
Breaking

भाजपा का सवालः क्या किसी गैंगवार की पृष्ठभूमि तो तैयार नहीं कर रहे भूपेश बघेल?

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि देश में दंगे फैलाने का बयान देकर मुख्यमंत्री बघेल किसी गैंगवार की तैयारी तो नहीं कर रहे?

भाजपा का सवालः क्या किसी गैंगवार की पृष्ठभूमि तो तैयार नहीं कर रहे भूपेश बघेल?

नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि देश में दंगे फैलाने का बयान देकर मुख्यमंत्री बघेल किसी गैंगवार की तैयारी तो नहीं कर रहे?

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सीमा से लेकर सीमापार तक लगातार हमारा पराक्रम बढ़ता जा रहा है। आतंकवाद और नक्सलवाद के खिलाफ कांग्रेस की नीति कभी स्पष्ट नहीं रही है, इस वजह से हमेशा कांग्रेस आतंकवाद को मजबूत करने वाले बयानों को बल देती रही है।

उन्होंने कहा कांग्रेस को 26/11 की घटना को नहीं भूलना चाहिए, जब आतंकी देश के भीतर घुसकर एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया था। जब आज पुलवामा में सीआरपीएफ पर बड़ा आतंकी हमला होता है, उसे भी लेकर कांग्रेस शहादत को सलाम करने के बजाय सवाल खड़े कर रही है।

कौशिक ने कहा कि किस मंशा से भूपेश जी ऐसी गलतबयानी कर रहे हैं, यह समझ से परे है। कहीं ऐसा तो नहीं कि वे छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के विरोधी गुट के मंत्रियों को निपटाने के लिए गैंगवार कर उसे विपक्ष के सर मढ़ देना चाहते हैं।
उन्होंने कहा कि लगातार भड़काऊ बयान से इस आशंका को बल मिला है कि कहीं ताकत के नशे में खुद ही कोई रक्तपात कर अपने ही लोगों को नुकसान पहुंचा न दें भूपेश।
कौशिक ने कहा कि ऐसा किए जाने का इतिहास रहा है कांग्रेस का। छत्तीसगढ़ में एनसीपी नेता रामअवतार जग्गी की हत्या तब भूपेश की पार्टी के लोगों ने ही की, जिसमें दर्जनों लोगों को कोर्ट ने दोषी भी पाया।
उन्होंने कहा कि सिक्खों का नरसंहार करने वाली पार्टी, जिसके सज्जन कुमार जैसे नेता को सजा भी मिली है। उनके मुखिया राजीव गांधी ने कहा था कि जब बड़ा पेड़ गिरता है तो धरती हिलती ही है। पार्टी कब सत्ता के लिए नरसंहार करा दे भरोसा नहीं।
उन्होंने कांग्रेस नेता ललित नारायण सिंह, संजय गांधी, राजेश पायलट, जितेन्द्र प्रसाद, माधवराव सिंधिया समेत कांग्रेस के अनेक नेताओं की संदेहास्पद मृत्यु की चर्चा करते हुए कहा कि कांग्रेस का इतिहास काफी संदिग्ध रहा है। इन्हीं सब संदर्भों को जब हम सीएम भूपेश के बयानों से जोड़ते हैं तो इस आशंका को बल मिलता है कि भूपेश किसी गंभीर अपराधों को करने की पृष्ठभूमि अपने भाषणों से तैयार तो नहीं कर रहे?
नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि इन दो माह में प्रदेश सरकार के कामकाज को लेकर जनता में नाराजगी है। कर्जमाफी, संविलियन से लेकर शराबबंदी तक की मामले में सरकार घुटने टेके हुए है।
उन्होंने कहा लोकसभा चुनाव में हम 1996 से लेकर अब तक लगातार बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं और हमारा प्रदर्शन फिर से दोहराया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश और दुनिया में हमारी शक्ति बढ़ी है और वही विकास का मॉडल हमने समाज के बीच पेश किया है। समृध्दि, सुरक्षा, सीमा और नवीन संकल्प ही हमारा चुनावी मुद्दा होगा। इसी से डर कर कहीं सीएम कुछ गलत न कर बैठें, इसका ध्यान रखना होगा।
Share it
Top