Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भाजपा अध्यक्ष के निर्देश के बावजूद भी 100 रुपये दान नहीं कर रहे कार्यकर्ता, केवल 15 फीसदी ने दिया 2 करोड़ रुपये दान

कोरोना संकट में प्रधानमंत्री केयर्स फंड में सहयोग करने में प्रदेश के भाजपाई पीछे रह गए हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हर कार्यकर्ता को कम से कम सौ रुपए का योगदान देने के लिए कहा है। राज्य में 32 लाख कार्यकर्ता हैं, ये 100-100 रुपए भी देते तो आकड़ा 32 करोड़ पहुंच जाता है, पर पता चला है कि मदद की रफ्तार बेहद धीमी है।

जेपी नड्डा बोले दूसरी सरकारों में जनता की नहीं, नेताओं की होती है प्रगति
X
जेपी नड्डा

कोरोना संकट में प्रधानमंत्री केयर्स फंड में सहयोग करने में प्रदेश के भाजपाई पीछे रह गए हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने हर कार्यकर्ता को कम से कम सौ रुपए का योगदान देने के लिए कहा है। राज्य में 32 लाख कार्यकर्ता हैं, ये 100-100 रुपए भी देते तो आकड़ा 32 करोड़ पहुंच जाता है, पर पता चला है कि मदद की रफ्तार बेहद धीमी है। अभी तक 43 हजार कार्यकर्ताओं ने दो करोड़ रुपए जमा कराए हैं। इनमें कई बड़े नेताओं ने एक लाख या उससे ज्यादा राशि दी है।

कोरोना के कहर से निपटने के लिए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री केयर्स फंड बनाया है। इसमें पहले जहां सभी सांसदों ने सांसद निधि से एक-एक करोड़ दिए, वहीं बाद में सभी सांसदों की दो साल की निधि को इसमें शामिल किया गया है। प्रदेश के सांसदों के साथ विधायकों ने भी अपना वेतन इस फंड में भेजा है। इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने देशभर के कार्यकर्ताओं से इस फंड में अपना अंशदान देने की अपील की है। इसके बाद से छत्तीसगढ़ से भी लगातार कार्यकर्ता इसमें राशि भेज रहे हैं, पर रफ्तार धीमी है।

43 हजार ने भेजा अंशदान

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष विक्रम उसेंडी का कहना है, अब तक उनकी जानकारी में एक दिन पहले शनिवार तक 42 हजार 980 कार्यकर्ताओं ने अपना अंशदान भेजा है। उन्होंने कहा, अभी राशि का तो आकलन नहीं किया जा सका है। उनका कहना है, ज्यादा से ज्यादा कार्यकर्ता राशि भेजें और अपने साथ ही दूसरों को राशि भेजने के लिए प्राेत्साहित करें, यही उद्देश्य है।

रायपुर के अब तक 15 लाख

रायपुर जिला भाजपा के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल का कहना है, अब तक राजधानी के सात सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने अपना अंशदान भेजा है। यह अंशदान अब तक 15 लाख रुपए हो गया है। उनका कहना है, लगातार कार्यकर्ता योगदान कर रहे हैं। जब सभी कार्यकर्ता अपना योगदान कर देंगे, तब मालूम होगा, कितना पैसा भेजा गया है। उन्होंने बताया कम से कम सौ रुपए तो हर कार्यकर्ता भेज ही रहा है। कुछ ने एक लाख रुपए भी भेजे हैं।

Next Story