logo
Breaking

सीएम भूपेश ने पीएम मोदी को पत्र लिख कर की यह मांग, धरमलाल कौशिक बोले- 15 दिन में ही हांफने लगे

भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर मंत्रिमंडल सदस्यों की संख्या बढ़ाने संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे खत के मद्देनजर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, मुख्यमंत्री बघेल का मंत्रिपरिषद की सदस्य संख्या 20 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा गया पत्र निरर्थक है और अपने साथियों को ठगने जैसा है।

सीएम भूपेश ने पीएम मोदी को पत्र लिख कर की यह मांग, धरमलाल कौशिक बोले- 15 दिन में ही हांफने लगे
भारतीय जनता पार्टी ने एक बार फिर मंत्रिमंडल सदस्यों की संख्या बढ़ाने संबंधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे खत के मद्देनजर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर निशाना साधा है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, मुख्यमंत्री बघेल का मंत्रिपरिषद की सदस्य संख्या 20 प्रतिशत तक बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा गया पत्र निरर्थक है और अपने साथियों को ठगने जैसा है।
श्री कौशिक ने कहा, कांग्रेस सत्ता को केवल अपनी जागीर या लूट का माल समझने की प्रवृत्ति का परिचय देती रही है और इसलिए वहां सत्ता में भागीदारी और बंटवारे के लिए ऐसा घमासान मचता है। आखिरकार भाजपा के डॉ. रमन सिंह ने भी इसी संवैधानिक व्यवस्था के तहत 15 सालों तक इसी प्रतिबद्धता के साथ सरकार चलाई और इसी सीमित संख्या में उन्होंने सभी वर्ग व क्षेत्र का संतुलन साधा।
डॉ. रमन सिंह और भाजपा ने 15 साल से जिस प्रतिबद्धता से सरकार चलाई, उसे चलाने में बघेल 15 दिनों में ही हांफने लग गए हैं। इससे साफ होता है कि नीयत और नेतृत्व पारदर्शी होना चाहिए। इसके बगैर सरकार बनाना और चलाना आसान नहीं होता। श्री कौशिक ने कहा, मुख्यमंत्री अच्छी तरह जानते हैं कि मंत्रिमंडल सदस्य संख्या बढ़ेगी नहीं और किसी एक मुख्यमंत्री के चाहने से संवैधानिक व्यवस्था नहीं बदलेगी।
बावजूद इसके, मुख्यमंत्री बघेल का प्रधानमंत्री को पत्र लिखना अपने साथियों को ठगने का शिगूफा भर है। श्री कौशिक ने कहा, अपने विधायकों को बिखरने से बचाने का सीएम का यह शिगूफा कोई काम आने वाला नहीं है। बेहतर हो ऐसे शिगूफों के बदले सीएम अपने काम पर ध्यान दें।
Share it
Top