logo
Breaking

भूपेश बघेल बायोग्राफी : जानें कैसे हुई जोगी-बघेल की दुश्मनी

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की जाति अल्पसंख्यक अन्य पिछड़ा वर्ग के कुर्मी समाज से आते हैं भूपेश बघेल की पत्नी का नाम मुक्तेश्वरी बघेल है और भूपेश बघेल के पिता का नाम नंदकुमार बघेल है।

भूपेश बघेल बायोग्राफी : जानें कैसे हुई जोगी-बघेल की दुश्मनी
भूपेश भगेल छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री के रूप में आज शपथ लेंगे, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस दूसरी बार सरकार बना रही है। इस बार 5वीं विधानसभा (Chhattisgarh Assembly) में मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी पार्टी ने भूपेश बघेल (Bhupesh Baghel) को दी है। जो पार्टी प्रदेश की भी कमान संभाले हुए हैं। 2003 के बाद पार्टी ने 15 साल बाद राज्य में वापसी की है। कांग्रेस को 68 सीटों पर जीत दिलाने में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल की बड़ी भूमिका रही। 57 वर्षीय भूपेश बघेल का जन्म 23 अगस्त 1961 को दुर्ग जिले के पाटन छत्तीसगढ़ ने हुआ था। बघेल कुर्मी क्षत्रिय परिवार से हैं। बघेल को शुरू से ही राजनीति में रूचि रही और युवा कांग्रेस से अपने कॅरियर की शुरुआत की थी। जानें बघेल का जीवन परिचय...

भूपेश बघेल बायोग्राफी (bhupesh baghel biography in hindi)

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले की पाटन विधानसभा सीट से बघेल 1993 में विधायक चुने गए। लेकिन 2008 के चुनाव में वो इस सीट से हार गए। फिर 2013 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने अपनी पारंपरिक पाटन विधानसभा सीट से भारी जीत हासिल की। इसके बाद पार्टी ने 2018 के विधानसभा चुनाव में फिर बघेल को इसी सीट से उतारा।

भूपेश बघेल का जीवन परिचय, भूपेश बघेल जाति, भूपेश बघेल की पत्नी (bhupesh baghel biography, bhupesh baghel caste, bhupesh baghel wife)

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के पिता का नाम नंदकुमार बघेल है। बघेल का विवाह 3 फरवरी 1982 को मुक्तेश्वरी बघेल से हुआ। उनसे उनको एक बेटा और तीन बेटी हुईं। भूपेश बघेल ओबीसी के बड़े नेता हैं और छत्तीसगढ़ की आबादी में करीब 36 फीसदी हिस्सेदारी ओबीसी की है। बघेल अल्पसंख्यक अन्य पिछड़ा वर्ग के कुर्मी समाज से आते हैं जिसका राज्य की राजनीति में काफी अहम योगदान रहा है।

भूपेश बघेल के राजनीतिक गुरू (bhupesh baghel political guru)

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को राजनीति का पाढ़ पढ़ाने वाले भी कांग्रेस नेता ही रहे। वो पूर्व कांग्रेस नेता स्वर्गीय चंदूलाल चंद्राकर को अपना राजनीतिक गुरू मानते हैं। राजनीति की शुरुवात के लिए वो चंदूलाल चंद्राकर के ही मार्गदर्शन पर ही चल रहे हैं।

भूपेश बघेल प्रोफाइल, शैक्षणिक योग्यता (bhupesh baghel profile and education)

छत्तीसगढ़ ने नए सीएम बनने जा रहे भूपेश बघेल ने एम ए तक की पढ़ाई की है। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय से उन्होंने ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है।

भूपेश बघेल का राजनीतिक सफरनामा (bhupesh baghel political career)

छत्तीसगढ़ की 5वीं विधानसभा में राज्य के तीसरे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का राजनीतिक सफर काफी उतार चढ़ाव वाला रहा है। भूपेश बघेल एक भारतीय राजनीतिज्ञ और छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री हैं। उन्होंने अपनी राजनीति की शुरुआत काग्रेस पार्टी से ही की। इस वक्त वो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनेता हैं।
बघेल ने 80 के दशक में यूथ कांग्रेस के साथ राजनीति पारी की शुरुआत की। 1990 से 1994 तक वह जिला युवक कांग्रेस कमेटी दुर्ग (ग्रामीण) के अध्यक्ष रहे हैं। इसके बाद पार्टी ने 1993 से 2001 तक मध्य प्रदेश हाउसिंग बोर्ड का निदेशक बनाया। इसके बाद जब अलग राज्य छत्तीसगढ़ बना तो वो पाटन सीट से चुनाव लड़े और विधानसभा पहुंचे। इस दौरान बघेल कैबिनेट मंत्री बने। सरकार में राजस्व, लोक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग और राहत कार्य के तौर पर प्रदेश के पहले मंत्री बने।
इसके बाद 2003 के चुनाव में पार्टी चुनाव हार गई और बीजेपी की सरकार बनी। रमन सिंह मुख्यमंत्री बने और 15 साल तक राज्य में भाजपा की ही सरकार रही। इस दौरान विपक्ष की भूमिका में कांग्रेस रही। साल 2004 में बघेल दुर्ग लोकसभा सीट से खड़े हुए और लेकिन चुनाव हार गए। इसके बाद साल 2009 में भी वो लोकसभा चुनाव लड़े लेकिन हार गए। इसके बाद पार्टी ने 2014 में बघेल को बड़ी जिम्मेदारी दी और उनके हाथ में राज्य की कमान सौंप कर छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया।

भूपेश बघेल का जीवन परिचय (bhupesh baghel biography in hindi)

वर्ष जिम्मेदारी

1990-94 जिला युवक कांग्रेस अध्यक्ष (दुर्ग ग्रामीण)
सदस्य, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी
महामंत्र, कार्यक्रम समन्वयक प्रदेश छत्तीसगढ़
1993 प्रथम बार निर्वाचित, तदन्तर 1998, 2003, 2013 में चौथी बार विधानसभा पहुंचे
1998 राज्यमंत्री, मुख्यमंत्री से संबद्ध जनशिकायत निवारण (स्वतंत्र प्रभार ) छत्तीसगढ़ शासन
1999 मंत्री, परिवहन विभाग, मध्य प्रदेश
2000 मंत्री, राजस्व पुनर्वास, राहत कार्य, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी छत्तीसगढ़
2013 सदस्य, कार्य मंत्रणा समिति, छत्तीसगढ़ विधानसभा
2014-15 सदस्य, लोक लेखा समिति छत्तीसगढ़ विधानसभा
2018 विधायक, पाटन सीट, दुर्ग छत्तीसगढ़

भूपेश बघेल अभिरुचि (Hobbies)

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को साहित्य पढ़ना, योग और खेलकूद में ज्यादा रूचि है।

भूपेश बघेल की विदेश यात्राएं

छत्तीसगढ़ के तीसरे सीएम भूपेश बघेल ने कई देशों की यात्राएं भी की हैं। इसमें ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, थाईलैंड, सिंगापुर और नेपाल शामिल हैं।

जोगी-बघेल की दुश्मनी

छत्तीसगढ़ के नए सीएम भूपेश बघेल को पहले सीएम रहे अजीत जोगी का परिवार दुश्मन मानता है। इसकी वजह है बघेल ने अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को पार्टी से बाहर कर दिया था। फिर इसके बाद अजीत जोगी को भी पार्टी से बाहर जाना पड़ा। इतना ही नहीं इस लड़ाई में जोगी की पत्नी पत्नी रेणु जोगी के कांग्रेस में रहने के बावजूद इस बार उन्होंने कांग्रेस पार्टी ने टिकट नहीं दी। जबकि जोगी चाहते थे कि उनकी पत्नी विधानसभा का चुनाव लड़ें। इस तरह बघेल ने पूरे जोगी परिवार को प्रदेश कांग्रेस पार्टी से बाहर खड़ा कर दिया। अजीत जोगी की कांग्रेस से अलग होकर एक अलग पार्टी बनाई है। जिसका नाम 'जनता कांग्रेस पार्टी' है। इस चुनाव के दौरान अजीत जोगी ने भाषणों के दौरान कहा था कि कांग्रेस ने उनके परिवार को निशाना बनाया वो प्रदेश में कांग्रेस की सरकार नहीं बनने देंगे। लेकिन फिर भी जनता के बीच कांग्रेस को 15 साल का वनवास काट सत्ता मिल गई और जीत का ताज भूपेश बघेल को गया।

सेक्स सीडी कांड में जा चुके जेल

इस विधानसभा चुनाव के दौरान और 2017 से चर्चा में रहा सबसे बड़ा विवाद सेक्स सीडी। सेक्स सीडी कांड में बघेल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया था। उनपर आरोप था उन्होंने सेक्स सीडी बांटी थी।
इस दौरान बघेल को सीबीआई की विशेष अदालत ने जेल भेजने का जैसे ही आदेश दिया तो उन्होंने जमानत लेने से साफ इनकार कर दिया था। सेक्स सीडी कांड मामला 27 अक्टूबर 2017 का है।
इस मामले में छत्तीसगढ़ के एक मंत्री का नाम सामने आया था। इस मामले में दिल्ली से पत्रकार विनोद वर्मा भी गिरफ्तार किए गए थे। जिनको बाद में जमानत पर छोड़ दिया। बघेल और वर्मा के खिलाफ रायपुर में सीडी बांटने के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की थी।
हाल ही में पांच राज्यों हुए विधानसभा चुनाव 2018 के दौरान कांग्रेस ने तीन राज्यों छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान में सरकार बना ली है और सीएम के नामों का भी ऐलान कर चुकी है।
इस बार के छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में भूपेश बघेल के नेतृत्व में कांग्रेस को यहां 68 सीटें मिलीं। पार्टी को 28 सीटों का फायदा हुआ। उसने राज्य की 90 सीटों में से दो तिहाई से ज्यादा सीटों पर ऐतिहासिक जीत हासिल की।
Share it
Top