logo
Breaking

साढ़े तीन साल से एयरपोर्ट पर खड़ा बांग्लादेशी विमान, न किराया चुकाया, न वापस ले गए

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में इमरजेंसी लैंडिंग करने वाले बांग्लादेशी विमान के वापसी की कोई स्थिति नहीं बन रही है। इस विमान का किराया खड़े-खड़े ही एक करोड़ से अधिक हो गया है।

साढ़े तीन साल से एयरपोर्ट पर खड़ा बांग्लादेशी विमान, न किराया चुकाया, न वापस ले गए

स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट में इमरजेंसी लैंडिंग करने वाले बांग्लादेशी विमान के वापसी की कोई स्थिति नहीं बन रही है। इस विमान का किराया खड़े-खड़े ही एक करोड़ से अधिक हो गया है। एयरपोर्ट प्रबंधन इसे लेकर कई बार बांग्लादेश एयरपोर्ट अथाॅरिटी को पत्र और ई-मेल भेजता रहा है, मगर उस तरफ के किसी तरह का जवाब नहीं आया है।

बांग्लादेश के इस विमान ने ढाका से मस्कट जाने के दौरान तकनीकी खराबी आने के कारण यहां के विमानतल में अपनी इमरजेंसी लैंडिंग कराई है। तब से विमान अब तक यहीं ख़ड़ा है और उसका किराया बढ़ते-बढ़ते एक करोड़ से ऊपर पहुंच चुका है।
एयरपोर्ट अथाॅरिटी उसकी वापसी के लिए इमरजेंसी लैंडिंग के बाद से ही प्रयास कर रही है, मगर अब तक इसमें कोई सफलता नहीं मिल पाई है। विमान पुराने टर्मिनल भवन के पीछे खड़ा हुआ है और धीरे-धीरे उसका किराया बढ़कर एक करोड़ रुपए तक पहुंच गया है।
किराए की राशि इतनी बड़ी होने के बाद भी उसका भुगतान नहीं होने के साथ विमान की वापसी नहीं हो रही है। एयरपोर्ट प्रबंधन इस इंतजार में है कि बांग्लादेश के अफसर आए और सारी औपचारिकता पूरा कर उसे ले जाए।

डेढ़ सौ यात्री थे सवार
7 अगस्त 2015 को बांग्लादेशी फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग माना एयरपोर्ट में की गई। फ्लाइट में लगभग 150 से अधिक यात्री सवार थे, सभी सुरक्षित रहे। यह फ्लाइट ढाका से मस्कट जा रही थी, लेकिन रास्ते में ही में इंजन का एक हिस्सा टूटकर बेमेतरा में खेत में जा गिरा था। तब से यह फ्लाइट माना एयरपोर्ट पर खड़ी है। रोजाना इस विमान के रखरखाव में एयरपोर्ट प्रबंधन को काफी दिक्कतें आती हैं।
Share it
Top