logo
Breaking

अरुण जेटली के ट्वीट से बौखलाए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, बोले- नक्सलियों से अरुण जेटली के संबंध, झीरम कांड है सुपारी किलिंग

अरुण जेटली के ट्वीट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बहुत ही सतही और दुर्भाग्यजनक बयान दिया है । हमने अपने नेताओं को झीरम कांड में खोया है । नक्सलियों से हमारे संबंध नही बल्कि उनके संबंध रहे होंगे, इसलिए वो ये बात कह रहे है। जेटली को इस बयान को लेकर माफी मांगनी चाहिए या फिर उन्हें सिद्ध करना चाहिए किस तरह के संबंध है।

अरुण जेटली के ट्वीट से बौखलाए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, बोले- नक्सलियों से अरुण जेटली के संबंध, झीरम कांड है सुपारी किलिंग

रायपुर. अरुण जेटली के ट्वीट पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बहुत ही सतही और दुर्भाग्यजनक बयान दिया है । हमने अपने नेताओं को झीरम कांड में खोया है । नक्सलियों से हमारे संबंध नही बल्कि उनके संबंध रहे होंगे, इसलिए वो ये बात कह रहे है। जेटली को इस बयान को लेकर माफी मांगनी चाहिए या फिर उन्हें सिद्ध करना चाहिए किस तरह के संबंध है।

झीरमकांड पर सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि एसआईटी हमने गठित की अब एनआईए केस वापिस नही कर रही है गृहमंत्रालय केस नही वापिस कर रहा वहां बिल्कुल सुपारी किलिंग हुई है। आज विपक्ष द्वारा स्थगन पर चर्चा के विषय में कहा कि स्थगन तत्कालीन घटना पर लाया जाता है ये बात कर रहे है अंतागढ़ की नान की इसमें कई बार चर्चा हो चुकी है।
विपक्ष इल्जाम लगा रहा है कांग्रेस के मंत्री कलेक्टरों को डराते धमकाते हैं. ये धमकाने की आदत उनकी है उनके शासनकाल में हत्या हुई नान घोटाला, झीरम घटना,अंतागढ़ कांड ये सब गुंडागर्दी धमकी चमकी का काम वो लोग करवाते थे।
सदन में हैलिकाप्टर किराया के सवाल पर बवाल हुआ उस पर कहा कि 49 करोड़ का आंकड़ा दिया गया ये बहुत बड़ी राशी है इतने में तो नया हैलिकाप्टर आ जाता। प्रत्याशी चयन पर राहुल गांधी ने कहा योग्य को जगह मिलेगी जरूरी नही नेता पुत्रों को मिले टिकट इस पर कहा कि देखिये आलाकमान ने जो बोल दिया वो सर्वोपरी है । यहां भी हम केवल जनता की पसन्द उनके सामने रखेंगें बाकी वो जो बोले वो सही ।
पूर्व सीएम रमन सिंह ने कहा कि हर बार नक्सली चुनाव का बहिष्कार करते है तो ये संदेह के घेरे में रहता है. इस बार नक्सलियों ने बहिष्कार नहीं किया. नक्सलियों का रोल जो चुनाव के समय रहा है वो दिखाई देता है इससे इस बात की शंका होती है. स्थगन प्रस्ताव की चर्चा पर कहा कि विकास कार्यों के मुद्दों को हमने उठाया सभी विभाग के काम बंद हो गए है । मैनें कहा कि सभी काम शुरू करें कम से कम बस्तर प्राधिकरण जैसे काम तो शुरू हो अनुत्पादक काम रोक दें लेकिन बाकी काम शुरू करने की बात हमने रखी है ।
सौर सुजला के सदन में सवाल पर कहा कि नए मापदंड में 20 हजार सेशन करने की बात कही और जो ढ़ाई लाख का पम्पम है उसे हम 15 हजार में दे रहे थे इसपर उनकी क्या नीति है ये पूछने पर उन्होंने कोई जवाब नही दिया।
स्थगन प्रस्ताव पर बोले कि यदि प्रदेश के लोग असुरक्षित महसूस करते हैं तो फिर मंत्री के इशारे में कलेक्टर को राजनीतिक पार्टी के कार्यकर्ताओं को डराने का काम करते है तो उसके लिए स्थगन प्रस्ताव लाया जाएगा ।
Share it
Top