Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

चुनाव के दोनों चरणों में ड्यूटी लगाए जाने से नाराज शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यक्रम में फूटा गुस्सा

राज्य में दो चरणों में संपन्न होगा पंचायत चुनाव। जिसका पहला चरण 28 जनवरी एवं दूसरा चरण 3 फरवरी को है।

चुनाव के दोनों चरणों में ड्यूटी लगाए जाने से नाराज शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यक्रम में फूटा गुस्साAnger erupted in training program of teachers

भाटापारा। जिले के इतवारी राम यादव हाई स्कूल में आगामी पंचायत चुनाव को लेकर चुनाव में ड्यूटी लगने वाले शिक्षकों का प्रशिक्षण कार्यक्रम किया गया। जिसमें शिक्षा विभाग के लगभग 500 शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाना था। लेकिन इस दौरान चुनाव ड्यूटी को लेकर शिक्षकों का गुस्सा फूट पड़ा और शिक्षकों ने लामबंद होकर आंदोलन छेड़ दिया।

दरअसल पंचायत चुनाव पूरे छत्तीसगढ़ में दो चरणों में संपन्न होगा। जिसका पहला चरण 28 जनवरी एवं दूसरा चरण 3 फरवरी को है। लेकिन भाटापारा ब्लॉक के शिक्षकों का दोनों चरणों में एक साथ चुनाव ड्यूटी लगा दिया गया है। यही शिक्षकों की नाराजगी का कारण है। शिक्षकों का कहना है कि दोनों चरणों में ड्यूटी लगाया जाना है शिक्षकों का शोषण है।

शिक्षकों ने मांग की है कि जिस किसी भी शिक्षक के चुनाव में ड्यूटी लगाई गई है उसे सिर्फ एक चरण में ड्यूटी के लिए आदेशित किया जाए। क्योंकि एक चरण में ड्यूटी के बाद कर्मचारी शारीरिक एवं मानसिक रूप से थके होते हैं ऐसे में फिर से ड्यूटी लगने से कुछ गलतियां होने की संभावना रहती है।

शिक्षकों ने कहा कि शिक्षकों पर कार्यवाही करने से भी प्रशासन नहीं चूकती ना किसी प्रकार की शिक्षकों की सुनवाई की जाती है। इस तरह की ड्यूटी लगा कर पिछले विधानसभा चुनाव में भी कुछ इस तरह की परिस्थितियों को शिक्षकों ने सहा है। जिसके कारण आज शिक्षक प्रशिक्षण का बहिष्कार कर रहे हैं।

इस दौरान शिक्षकों ने मांग रखी कि शिक्षकों की ड्यूटी एक चरण में ही लगाई जाए। शिक्षकों ने बताया कि हमारे बीच तहसीलदार एसडीएम सर मौजूद हैं। जिनसे चर्चा हुई है उनका कहना है कि शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल मना कर जिला कलेक्टर से इस बात को लेकर चर्चा की जाएगी। जिसमें विभिन्न पहलुओं को रखा जाएगा और उनसे मांग की जाएगी कि शिक्षकों की शिकायतों की सुनवाई की जाए। शिक्षकों ने बताया कि अगर हमारे मांग पर गौर नहीं किया जाता हमारी समस्याओं का निराकरण नहीं किया जाएगा तो हम अनिश्चितकालीन हड़ताल में जाने से नहीं झुकेंगे। हालांकि भाटापारा एसडीएम महेश राजपूत एवं तहसीलदार प्रवीण तिवारी के द्वारा आश्वासन के पश्चात पुनः प्रशिक्षण चालू किया गया।

Next Story
Top