Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमित जोगी का मेडिकल बुलेटिन जारी, सेहत में सुधार, कोर्ट में 16 को होगी सुनवाई

जन्म प्रमाणपत्र मामले में गिरफ्तार पूर्व विधायक अमित जोगी की सेहत में सुधार आया है। बालाजी अस्पताल में एडमिट अमित की जांच पांच डॉक्टरों की टीम ने की। गुरुवार को अस्पताल प्रबंधन की तरफ से अमित जोगी का मेडिकल बुलेटिन भी जारी किया गया।

अमित जोगी का मेडिकल बुलेटिन जारी, सेहत में सुधार, कोर्ट में 16 को होगी सुनवाईAmit Jogi's medical bulletin issued, health condition is improving

रायपुर। जन्म प्रमाणपत्र मामले में गिरफ्तार पूर्व विधायक अमित जोगी की सेहत में सुधार आया है। बालाजी अस्पताल में एडमिट अमित की जांच पांच डॉक्टरों की टीम ने की। गुरुवार को अस्पताल प्रबंधन की तरफ से अमित जोगी का मेडिकल बुलेटिन भी जारी किया गया। इधर, अमित अस्वस्थता की वजह से अंतागढ़ टेपकांड मामले में अदालत में पेश नहीं हो सके। इस मामले की सुनवाई अब 16 सितंबर को होगी। अमित ने अदालत में खुद पैरवी करने की अर्जी दी थी।

बालाजी अस्पताल में भर्ती अमित जोगी का प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन, कैरोटिड डाॅप्लर, होल्टर माॅनिटरिंग और एमआरआई की जांच न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. केके भोई, कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. बलविंदर चुग, एमडी मेडिसिन डॉ. दीपक जायसवाल और मेडिकल डायरेक्टर डॉ. देवेंद्र नायक ने की है। डॉक्टरों ने कहा, सभी जांच करने और स्थिति स्पष्ट होने में 36 से 48 घंटे का समय लगेगा। डॉक्टरों का दावा है, अमित जोगी के स्वास्थ्य में पहले की तुलना में बहुत सुधार है। दरअसल दो दिन की जद्दोजहद के बाद आखिरकार बुधवार को अमित जोगी को बिलासपुर के अपोलो अस्पताल से रायपुर सेंट्रल जेल भेज दिया गया था, जहां ट्रामा संसाधनों से लैस एंबुलेंस से उनको बुधवार शाम सेंट्रल जेल रायपुर में लाया गया था, जहां आमद देने के बाद उन्हें आंबेडकर अस्पताल भेज दिया गया था। मेडिकल बोर्ड की जांच के बाद देर रात बालाजी अस्पताल में शिफ्ट किया गया था।

मेडिकल बोर्ड ने किया है रिफर

दरअसल अमित जोगी की जेल भेजने के बाद अचानक तबीयत बिगड़ गई। उनको बिलासपुर के अपोलो अस्पताल में भर्ती किया गया था, लेकिन उनकी हालत में सुधार नहीं हो रहा था। उनके कहने पर डॉक्टरों ने मेदांता अस्पताल में इलाज कराने रेफर कर दिया था, लेकिन सरकार ने उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराने मेडिकल बोर्ड गठित किया। बुधवार रात उनको अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां मेडिकल बोर्ड के डॉक्टर कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. स्मित श्रीवास्तव, एमडी मेडिसिन डॉ. डीपी लकड़ा, ईएनटी स्पेशलिस्ट डॉ. वर्षा मुटाटकर और एमडी मेडिसिन आरके पटेल समेत अन्य डॉक्टरों की टीम बुधवार रात आंबेडकर अस्पताल के ट्रामा मेडिसिन वार्ड पहुंची, जहां आधे घंटे तक उनके स्वास्थ्य का परीक्षण किया। इसके बाद उनको रेफर किया गया।

वाॅइस सैंपल पर 16 को होगी सुनवाई

जानकारी के मुताबिक अंतागढ उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी मंतूराम पवार खरीद-फराेख्त मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, उनके बेटे पूर्व विधायक अमित जोगी, पूर्व विधायक मंतूराम पवार का वाइस सैंपल लेने विशेष न्यायाधीश लीना अग्रवाल की कोर्ट में अर्जी लगाई थी, जिस पर गुरुवार को कोर्ट में सुनवाई हुई। इस दौरान कलमबंद बयान देने वाले पूर्व विधायक मंतूराम पवार बैकफुट पर आए। उन्होंने वॉइस सैंपल नहीं देने को लेकर कोर्ट में दिए आवेदन काे वापस ले लिया। स्पेशल इन्वेटिगेशन टीम को वह अपना स्वेच्छा से वाॅइस सैंपल देने तैयार हैं। हालांकि गुरुवार को कोर्ट में अमित जोगी समेत अन्य पेश नहीं हुए। मजिस्ट्रेट लीना अग्रवाल ने सुनवाई की 16 सितंबर को अगली तारीख निर्धारित की है।

इस केस में कोर्ट में सुनवाई

गौरतलब है कि पूर्व महापौर किरणमयी नायक की शिकायत पर पंडरी पुलिस ने पूर्व विधायक मंतूराम पवार, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, जेसीसी सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, पूर्व विधायक अमित जोगी के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसमें गवाह फिरोज सिद्दीकी को जेल भेजे जाने के बाद आरोपी मंतूराम पवार अपने बयान से पलट गए और अंतागढ़ उपचुनाव में साढ़े 7 करोड़ रुपए की सौदेबाजी का खुलासा किया। साथ ही उन्होंने कोर्ट में 164 का कलमबंद बयान भी दिया है। इस केस में एसआईटी को पेनड्राइव मिली है, जिसमें एसआईटी ने आवाज मिलान कराने वॉइस सैंपल लेने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

Next Story
Top