Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अमरजीत भगत बोले- बारदाना की कोई कमी नहीं, अब तक 94 फीसदी धान की हो चुकी है खरीदी

खाद्य मंत्री ने की धान खरीदी और बारदाना व्यवस्था की समीक्षा की

अमरजीत भगत बोले- बारदाना की कोई कमी नहीं, अब तक 94 फीसदी धान की हो चुकी है खरीदी

रायपुर. खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने आज यहां मंत्रालय में धान खरीदी और उपार्जन केन्द्रों में बारदाना की उपलब्धता की समीक्षा की। भगत ने इस दौरान बारदाना की समस्या वाले जिला कलेक्टरों से दूरभाष पर बातचीत भी की। भगत ने कलेक्टरों को निर्देश दिए कि जिले के जिन उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी हो चुकी है और बारदाना बच गए हैं। ऐसे खरीदी केन्द्रों से अतिरिक्त बारदाना को कमी वाले खरीदी केन्द्रों में उपलब्ध कराया जाए।

अमरजीत भगत ने कहा कि कुछ स्थानों में असमय बारीश से बोरा भीग जाने के कारण उसमें रखे धान को दूसरे नए बोरे में भर दिया गया। किन्तु खाली हुए बोरे का उपयोग नहीं हुआ है। ऐसे बोरे को सुखाकर धान भरने के उपयोग में लाया जाए। प्रदेश के बहुत से खरीदी केन्द्रों में गतवर्षो की तुलना में ज्यादा धान खरीदी हुई है। इस कारण भी उन केन्द्रों में और ज्यादा बोरा की जरूरत पड़ रही है। श्री भगत ने अधिकारियों से कहा कि जिन स्थानों से बारदाना की कमी की शिकायत आ रहा है वहां बारदाना तुरंत उपलब्ध कराए।

खाद्य विभाग के सचिव डाॅ. कमलप्रीत सिंह ने बताया कि प्रदेश में धान खरीदी के लिए निर्धारित अनुमान के विरूद्ध अब तक 81 लाख 53 हजार मीट्रिक टन धान खरीदी हो चुकी है। कुल खरीदे गए धान का 14 हजार 469 करोड़ रूपए का भुगतान किसानों को सीधे उनके बैंक खातों में किया जा चुका है। खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में गतवर्ष की तुलना में दो लाख 34 हजार ज्यादा किसान धान बेच चुकें है। प्रदेश में अब तक 91 प्रतिशत सीमांत किसान अपना धान बेच चुके है। इसी प्रकार 93 प्रतिशत छोटे किसान धान बेच चुकें है। प्रदेश के 94 प्रतिशत बड़े किसान धान बेच चुके है। इस प्रकार कुल 18 लाख पांच हजार किसान अपना धान समर्थन मूल्य पर सहकारी समितियों में बचे चुके है। जबकि गतवर्ष 2018-19 में कुल 15 लाख 71 हजार किसानों ने धान बेचा था।

खाद्य सचिव ने बताया कि कुछ जिलों के धान खरीदी केन्द्रों में बारदाना नही होने की जानकारी मिली है। कोण्डागांव जिले में 18 प्रतिशत अधिक धान की खरीद हुई है। कोण्डागांव जिले के लिए 15 हजार अतिरिक्त नया बोरा भेजे गए। इसके अलावा कांकेर जिले में 7.5 प्रतिशत ज्यादा धान की खरीदी हुई है। कांकेर जिले के लिए पांच हजार बारदाना और भेजा गया है। बीजापुर जिले में 25 हजार बारदाना भेजा गया है। बेमेतरा जिले में पिछले वर्ष खरीदी गई धान के हिसाब से ज्यादा बारदाना उपलब्ध कराया गया है।

वर्तमान में बेमेतरा जिले में 52 हजार बारदाना उपलब्ध है। कबीरधाम जिले में भी पर्याप्त बारदाना उपलब्ध है। प्रदेश की कुछ समितियों में किसानों को चैथा टोकन भी जारी किया गया है और चैथा टोकन पर 3.5 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई है। खाद्य सचिव ने बताया कि रायपुर जिले में लगभग 98 प्रतिशत धान की खरीदी हो चुकीं है। बैठक में खाद्य विभाग के विशेष सचिव मनोज सोनी, एलेक्स पाल मेनन, प्रबंध संचालक, नान निरंजनदास, मार्कफेड के एमडी शम्मी आबिदी, रजिस्ट्रार सहकारी समितियां हिमशिखर गुप्ता और अपैक्स बैंक के ओएसडी अविनाश श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Next Story
Top