Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

20 अप्रैल के बाद ई-कॉमर्स कंपनियों को कारोबार की छूट का विरोध शुरू, कैट ने असहयोग आंदोलन की दी चेतावनी

ऑनलाइन व्यापार से व्यापारी वर्ग हो जाएगा तबाह : कन्हैया अग्रवाल

20 अप्रैल के बाद ई-कॉमर्स कंपनियों को कारोबार की छूट का विरोध शुरू, कैट ने असहयोग आंदोलन की दी चेतावनी
X

रायपुर. छत्तीसगढ़ चेंबर आफ कामर्स एण्ड इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के महामंत्री कन्हैया अग्रवाल ने केंद्र सरकार द्वारा ऑनलाइन व्यापार को स्वीकृति प्रदान किए जाने को व्यापार जगत पर गहरा आघात बताते हुए कहा कि लॉक डाउन के दौरान एक माह से सरकार के हर कदम के सहयोगी बने व्यापारी अपना कारोबार बंद रखकर ताली बजाने से लेकर दिया जलाने तक हमेशा प्रधानमंत्री के आव्हान पर से सहभागी बने.

प्रधानमंत्री राहत कोष हो मुख्यमंत्री राहत कोष सभी में सहयोग किया. राशन की सेवा, भोजन पैकेट की सेवा उपलब्ध कराई पर व्यापार प्रारंभ करने के लिए केंद्र सरकार ने विदेशी ऑनलाइन कंपनियों को स्वीकृति देकर व्यापार जगत पर कुठाराघात किया है.

कन्हैया अग्रवाल ने कहा कि देश और प्रदेश की जनता की सेवा, अर्थव्यवस्था में भागीदारी करने वाले व्यापारी वर्ग ने गर्मी के सीजन के साथ शादियों के सीजन के लिए पूर्व में तैयारी कर जरूरत का माल खरीदा था. व्यापारी को लाकडाउन के बाद छूट से कारोबार की उम्मीद थी इस वर्ग को पहले भी केंद्र सरकार ने कोई पैकेज नहीं दिया था.

केंद्र सरकार द्वारा व्यापारियों को कारोबार की छूट ना देकर ऑनलाइन कंपनियों को समस्त वस्तुओं के व्यापार की अनुमति देना छोटे और मझोले व्यापार को समाप्त करने की साजिश के साथ कारपोरेट जगत को फायदा पहुंचाने का षड्यंत्र लगता है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अपने इस निर्णय को तत्काल वापस लेकर क्रमशः लॉकडाउन समाप्त करने की दिशा में ग्रीन जोन वाले जिलों में व्यापार की अनुमति प्रदान करें.



Next Story