logo
Breaking

आजादी की जिंदगी जीने घर से भागी 5 लड़कियां, मिलीं पंडरी बस स्टैंड में, दो ने किया प्रेम विवाह

माता—पिता की रोक टोक से तंग आकर और आजादी की जिंदगी जीने के लिए घर से भागीं पलारी की 5 लड़कियां राजधानी रायपुर के पंडरी इलाके मिलीं। इन पांच लड़कियों में से दो—दो सगी बहने और एक सहेली है। इनमें से दो ने प्रेम विवाह कर लिया है जबकि तीन को पुलिस ने उनके परिवार को सुपुर्द क​र दिया है।

आजादी की जिंदगी जीने घर से भागी 5 लड़कियां, मिलीं पंडरी बस स्टैंड में, दो ने किया प्रेम विवाह
माता—पिता की रोक टोक से तंग आकर और आजादी की जिंदगी जीने के लिए घर से भागीं पलारी की 5 लड़कियां राजधानी रायपुर के पंडरी इलाके मिलीं। इन पांच लड़कियों में से दो—दो सगी बहने और एक सहेली है। इनमें से दो ने प्रेम विवाह कर लिया है जबकि तीन को पुलिस ने उनके परिवार को सुपुर्द क​र दिया है।
पुलिस थाना पलारी के ग्राम रोहांसी के इन 5 लड़कियां 24 दिन पहले 11 नवंबर को खेत में काम करने के दौरान गांव छोड़कर भाग गई थीं। इससे पहले सभी ने अपने माता पिता के नाम पत्र छोड़कर गई थी। पत्र में सभी लड़कियों ने लिखा था कि उनको अपनी जिंदगी आजादी से जीना है, जिसमें कोई रोक-टोक कोई या डांट फटकार पसंद नहीं है। घर परिवार में उन्हें ऐसे उत्पीड़न से घुटन होने लगी है इसलिए वे सभी अपनी जिंदगी जीने घर छोड़कर जा रही हैं।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 5 लड़कियों में से एक लड़की नाबालिग है और इसी ने अपने पिता को फोन कर बताया कि उनमें दो लड़कियां शादी कर चुकी हैं और बाकी 3 अपने घर आना चाहती हैं। इसके बाद परिजन ने पुलिस को सूचना दी फिर पुलिस ने तीनों को पंडरी इलाके से लेकर आई।
पलारी थाना प्रभारी के.के. कुशवाहा ने बताया कि पुलिस को रोहांसी की 5 लड़कियां बबीता सागर (24) और छोटी बहन मालासागर(19), पूजा धीवर(22) और उसकी नाबालिग बहन और दिव्या कनोजे (18) को रायपुर के पंडरी बस स्टैंड से लाया गया है।
पांचों लड़कियों को पहले पलारी लाया गया। पलारी में सभी का बयान बालकल्याण विभाग सखी केंद्र में कराया गया। इसके बाद नाबालिग लड़की को उनके माता पिता को सौंपा गया जबकि बाकी सभी बालिग होने से उनको मर्जी से निर्णय लेने के लिए छोड़ दिया गया।
इसमें दो लड़कियों पूजा व दिव्या ने रोहांसी सड़क निर्माण में कार्य कर रहे कर्मचारियों से प्रेम विवाह कर लिया था। वे प्रेमी के साथ चली गईं। वहीं दो अन्य बालिग अपने माता पिता के साथ चली गईं।
Share it
Top