logo
Breaking

मोबाईल इंटरनेट बैकिंग के नाम से ग्राहकों के खाते से 10 लाख की ठगी

रायपुर राजधानी में मोबाईल इंटरनेट के माध्यम से ग्राहकों के खाते से 10 लाख 13 हजार रूपए की ठगी करने वाला बैंक का रिलेशनशिप ऑफिसर को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है

मोबाईल इंटरनेट बैकिंग के नाम से ग्राहकों के खाते से 10 लाख की ठगी

रायपुर राजधानी में मोबाईल इंटरनेट के माध्यम से ग्राहकों के खाते से 10 लाख 13 हजार रूपए की ठगी करने वाला बैंक का रिलेशनशिप ऑफिसर को कोतवाली पुलिस ने गिरफ्तार किया है मोबाईल इंटरनेट बैकिंग के माध्यम से ग्राहकों के खाते से 10 लाख से अधिक रकम पार बैंक कर्मचारी गिरफ्तार बता दे कि आरोपी शेख मुख्तियार उर्फ सोनू उर्फ शेख आफताब रिजवी (22) कोतवाली क्षेत्र के शहीद हमीद नगर में रहता है। आरोपी एमजी रोड स्थ्ज्ञित इंडसइंड बैंक में रिलेशनशिप ऑफिसरर के पद पर कार्यरत है।

बताया जाता है कि आरोपी अपने दोस्त ईरफान के पिता अब्दुल मजीद से मुलाकात किया था। इस दौरान अब्दुल मजीद ने आरोपी शेख मुख्तियार के माध्यम से अपनी पत्नी शहिस्ता बेगम, पुत्री जीनत अफरोज, पुत्र मोहम्मद ईरफान व छोटा पुत्र मोहम्मद ईमरान का खाता इंडसइंड बैंक में खुलवाया था जिसका इंस्टालेसेन कीट अब्दुल मजीद के पुत्री जीनत को प्राप्त होना था जो जीनत को प्राप्त नहीं हुआ। आरोपी शेख मुख्तियार ने अब्दुल मजीद की पत्नी एवं दोनों पुत्र के खातों की राशि को जीनत अफरोज के खाते में आईएमपीएस एवं मोबाईल बैकिंग के माध्यम से स्थानांतरित कर जीनत अफरोज के खाते से अलग-अलग तिथियों में एटीएम के माध्यम से कुल 10 लाख 13217 रूपए आहरण कर आईएमपीएस एवं मोबाईल बैकिंग के माध्यम से आरोपी ने अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के खाते में ट्रांसफर कर दिया और लेन-देन के सभी मैसेज मोबाईल से मिटा दिया।
जब इस बात की जानकारी अब्दुल मजीद को मिली तो उसने आरोपी शेख मुख्तियार से उक्त राशि के संबंध में पूछताछ किया। जिस पर आरोपी ने अपना गुनाह कबूल किया और पैसे वापस करने के लिए इकरारनामा तैयार कर आश्वासन दिया। जब इकरारनामा के तहत आरोपी ने पैसे वापस नहीं की, तो अब्दुल मजीद ने इसकी शिकायत कोतवाली थाने में की। मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
Share it
Top