Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रायपुर के ठगों ने रत्न बेचने के बहाने अमेरिकन को ठगा

नीलम को बेचने के लिए विदेशी नागरिक पूरे विश्व में ग्राहक तलाश रहा था।

रायपुर के ठगों ने रत्न बेचने के बहाने अमेरिकन को ठगा
X

राजधानी रायपुर के ठग गिरोह ने एक अमेरिकी नागरिक से 50 लाख रुपए का नीलम ठग लिया।

फेसबुक पर गुजरात निवासी रत्न काराेबारी के जरिए अमेरिकी नागरिक से संपर्क साधा और नीलम देखने के बहाने रायपुर बुलाकर उन्हें धोखा दे दिया।

विदेशी नागरिक से जुड़े इस मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया और चार में से तीन ठग को नागपुर में दबाेच लिया। एक आरोपी फरार है।

पुलिस के मुताबिक कोटा निवासी अंकुश मंडल पिता जॉन दिलीप मंडल (27), भाटापारा निवासी मुकेश तुरकाने पिता सीताराम (26), सेजबहार निवासी विजय कुमार साहू पिता राम अवध (29) और फरार आरोपी संजय शर्मा ने गुजरात, कच्छ निवासी रत्न कारोबारी बंटी उर्फ प्रिंस सोनी से अंकुश ने दो माह पूर्व ऑनलाइन नीलम खरीदने की बात की थी।

रत्न कारोबारी ने ठग को अमेरिकन नागरिक रॉबर्ट ए एक्स लोबो द्वारा नीलम बेचने की जानकारी दी। कारोबारी से ठग नीलम देखने की बात कहकर जयपुर पहुंचे।

सौदा तय नहीं होने से ठग जयपुर से वापस आ गए। रायपुर आने के बाद ठगों ने पुन: कारोबारी और अमेरिकन से सपंर्क साधा। उन्हें रायपुर बुलाया और यहां एक होटल में महंगे रत्न को खरीदने का झांसा देकर नीलम लेकर फरार हो गए।

पहली बार भारत आया

अमेरिकी नागरिक ने श्रीलंका से नीलम को 30 हजार डॉलर में खरीदा था। नीलम 25 कैरेट का है। नीलम को बेचने के लिए विदेशी नागरिक पूरे विश्व में ग्राहक तलाश रहा था।

सोशल मीडिया के माध्यम से उसे भारत में अपने रत्न की अच्छी कीमत मिलने का ऑफर मिला। अमेरिकन पहली बार भारत आया और यहां आते ही वह ठगी का शिकार हो गया।

फेसबुक में जोको ग्रुप से फांसा

महंगे रत्नों का व्यवसाय करने वाले कारोबारियों का फेसबुक में जेम्स एंड ज्वेलरी कारोबार करने जोको ग्रुप बना है। अंकुश भी उस ग्रुप में रत्न कारोबारी बनकर जुड़ा है।

फेसबुक ग्रुप में उसने नीलम खरीदने के लिए पोस्ट किया था। गुजरात के कारोबारी से सपंर्क कर अमेरिकी नागरिक को अपने जाल में फांसा।

जांच कराने दिल्ली गए और धरे गए

ठगी करने के बाद रत्न की जांच कराने ठग दिल्ली के लैब में गए। दिल्ली की लैब से ठग प्रमाण पत्र लेकर मुंबई बेचने जाने की फिराक में थे।

ठगों द्वारा रत्न को मुंबई बेचे जाने की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली, नागपुर रेलवे स्टेशन में घेराबंदी कर तीन बदमाशों को दबोच लिया।

रत्न लेकर ऐसे फरार हुए

नीलम बेचने रायपुर आए गुजरात के रत्न कारोबारी और अमेरिकन नागरिक को ठगों ने रत्न खरीदने डब्ल्यू व्ही केन्यान होटल बुलाया।

रत्न की सौदा करने के बाद ठग अमेरिकन नागरिक से नीलम लेकर उन्हें तेलीबांधा स्थित जोन पार्क होटल में रुपए देने की बात कहकर वहां बुलाया और ठग रत्न लेकर फरार हो गए।

विजय ने रची साजिश

विजय, अंकुश, मुकेश और संजय आपस में दोस्त हैं। विजय रत्नों के जानकार है, उसने सोशल मीडिया के माध्यम से किसी बड़े रत्न कारोबारी को ठगने का प्लान बनाया। प्लान के तहत अंकुश सोशल मीडिया के माध्यम से रत्न कारोबारियों से संपर्क साधना शुरू किया।

इसी बीच उसे रत्न कारोबारियों के फेसबुक ग्रुप के बारे में जानकारी मिली और वह रत्न कारोबारी बनकर उस ग्रुप से जुड़ कर अमेरिकी नागरिक को भारत बुलाकर ठगी का शिकार बनाया।

बेफिक्र थे ठग

महंगे रत्न और धातुओं का ज्यादातर काम दो नंबर में होता है। इसलिए ठग रत्न कोरोबारी को ठगने का प्लान बनाया। श्रीलंका में नीलम को अमेरिकी नागरिक ने पक्के में खरीदा है, इसका बिल भी उनके पास है।

भारत आने पर उन्होंने कस्टम में पर्सनल प्रापर्टी के रूप में एंट्री कराई। ठगों को इस बात की जानकारी नहीं थी। वे बेफिक्र होकर नीलम को बेचने का प्रयास कर रहे थे।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story