Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नक्सल हमले में सब इंस्पेक्टर समेत दो जवान शहीद

नक्सली मुठभेड़ के दौरान सब इंस्पेक्टर युगल किशोर वर्मा और पुलिस जवान कृषलाल साहू शहीद हो गए।

नक्सल हमले में सब इंस्पेक्टर समेत दो जवान शहीद
X

मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ सीमा से सटे ग्राम भावे जंगल की पहाड़ी में चल रहे नक्सल कैंप को ध्वस्त करने निकली पुलिस फोर्स पर नक्सलियों ने अचानक हमला कर दिया।

करीब घंटेभर चली मुठभेड़ के दौरान सब इंस्पेक्टर युगल किशोर वर्मा और पुलिस जवान कृषलाल साहू शहीद हो गए। मुठभेड़ के बाद नक्सली कैंप को छोड़कर भाग खड़े हुए। इधर जंगल से वापसी के दौरान मौसम के बेहद खराब होने के चलते पुलिस फोर्स को रेसक्यू आपरेशन चलाकर निकालना भी पड़ा।

मिली जानकारी के अनुसार घटना रविवार दोपहर करीब डेढ़ बजे के आसपास की बताई जा रही है। जिले के गातापार थाने के अंतर्गत भावे जंगल की पहाड़ी में नक्सली संगठन द्वारा पिछले तीन-चार दिनों से कैंप लगाया गया था।

इस कैंप में करीब पचास से अधिक नक्सलियों के होने की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने नक्सल आपरेशन के लिए तैयार की गई स्पेशल ई-30 पार्टी को शनिवार रात करीब दो बजे रवाना किया था।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि पुलिस पार्टी आज दोपहर जैसे ही भावे पहाड़ी के नीचे पहुंची, वैसे ही नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस फोर्स ने तत्काल मोर्चा संभाला।

दोनों ओर से करीब एक घंटे तक जमकर फायरिंग हुई। इस दौरान सब-इंस्पेक्टर युगलकिशाेर वर्मा के चेहरे में गोली लगी और वे घटनास्थल पर ही शहीद हो गए। वहीं पुलिस जवान कृषलाल साहू के जांघ में गोली लगी।

इस फायरिंग से जवान कृषलाल गंभीर रूप से घायल हो गया। सूत्रों ने बताया कि पुलिस फोर्स ने कैंप को ध्वस्त कर दिया है। इधर गंभीर रूप से घायल जवान कृषलाल साहू ने भी कुछ घंटे बाद दम तोड़ दिया।

शहीद एसआई श्री वर्मा ग्राम पलारी जिला बलौदाबाजार और शहीद पुलिस जवान कृषलाल साहू छछानपहरी चौकी जिला राजनांदगांव के निवासी थे।

बारिश में घिरी फोर्स

नक्सल कैंप को ध्वस्त करने के बाद पुलिस फोर्स को खराब मौसम का भी सामना करना पड़ गया। भावे जंगल में तेज बारिश होने के कारण घायल कृषलाल साहू को इलाज के लिए नांदगांव नहीं भेजा जा सका। फोर्स भावे के जंगल में ही फंसी रही। शाम होने के बाद फोर्स के गातापार पहुंचने की जानकारी मिली है।

नहीं उड़ सका हेलीकाप्टर

राजधानी में मौसम खराब होने के कारण घायल जवान को इलाज के लिए नांदगांव या रायपुर ले जाने के लिए हेलीकाप्टर की सुविधा भी नहीं मिल सकी। भावे जंगल में भी तेज बारिश होने के चलते पुलिस प्रशासन ने रेस्क्यू आपरेशन चलाकर फोर्स को बाहर निकाला। इस घटना के बाद पुलिस महकमे में शोक व्याप्त हो गया है।

राजनांदगांव के एसपी प्रशांत अग्रवाल ने कहा कि भावे जंगल में नक्सलियों के कैंप की जानकारी मिली थी। पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ के दौरान सब-इंस्पेक्टर और एक जवान शहीद हो गए।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story