Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए UP सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

UP Board Exam 2019: उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) ने राज्य में बोर्ड परीक्षाओं ( Board Exam) में छात्रों द्वारा की जाने वाली गड़बड़ी और नक़ल को रोकने के लिए सख्त कदम उठाते हुए एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इस सॉफ्टवेर का इस्तेमाल इसी सत्र से शुरू किया जाएगा।

बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए UP सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

UP Board Exam 2019:

उत्तर प्रदेश सरकार (Government of Uttar Pradesh) ने राज्य में बोर्ड परीक्षाओं ( Board Exam) में छात्रों द्वारा की जाने वाली गड़बड़ी और नक़ल को रोकने के लिए सख्त कदम उठाते हुए एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इस सॉफ्टवेर का इस्तेमाल इसी सत्र से शुरू किया जाएगा।

यूपी उपमुख्‍यमंत्री दिनेश शर्मा ने बताया है कि प्रदेश में यूपी बोर्ड परीक्षा (UP Board Exam 2019) 7 फरवरी 2019 से शुरू हो रही है। परीक्षाओं में नकल को रोकन के लिए एक साफ्टवेयर और चार चरणों में नकल निवारक प्रक्रिया तैयार की है। जिन स्कूलों से नकल के मामले सामने आए है उन पर कड़ी निगरानी रखी जाएगी।

उच्च प्राथमिक स्तर की यूपीटीईटी 2018 का रिजल्ट घोषित, लिकं पर क्लिक कर चेक करें

उन्होंने बताया है कि पिछले साल 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षाओं रोकने लिए प्रशासन ने अच्छा प्रयास किया था और सफल भी रही थी। प्रशासन की सख्ती को देखकर गत वर्ष 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा में करीब 10 लाख छात्र शामिल नहीं हुए थे।

दिनेश शर्मा ने यह भी बताया है कि इस बार सरकारी स्‍कूलों के छात्रों की संख्या बड़ी है। उत्तर प्रदेश में पिछले कुल सालों में बोर्ड परीक्षाओं नकल के लिए टेंडर होते थे, लेकिन भाजपा सरकार ने उसे समाप्त कर दिया है।

10वीं और 12वीं के 57 लाख 87 हजार 998 छात्रों इस बार बोर्ड के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है। इस बार भी प्रदेश सरकार नकल को पूरी तरह खत्म करने के लिए सख्त कदम उठा रही है।

UP Board Exam 2019: 10वीं 12वीं परीक्षाओं की डेटशीट हुई जारी, 16 दिन होंगे एग्जाम

स्कूल को निर्देश

बोर्ड और सरकार ने मिलकर बोर्ड परीक्षा गड़बड़ियां रोकने के लिए स्कूलों को निर्देश दिए हैं। स्कूल को परीक्षा केंद्र बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। उसमें स्कूल व्यवस्थापक को स्कूल की पूरी जानकारी देनी होगी।

स्कूल को पूरी जानकारी इंटरनेट पर और जिला विद्यालय निरीक्षक(डीआईओएस) को देनी होगी। फिर अगर डीआईओएस किसी केंद्र का चयन कर रहे है तो जिला स्‍तर पर प्रशासनिक अधिकारी उस स्कूल की जांच करेंगे।

परीक्षा केंद्र के लिए जरूरी

यूपी बोर्ड परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्र की अनुमति उन स्कूलों को ही मिलेगी। जिसमें सीसीटीवी कैमरे, छात्र, छात्रोओं के लिए अलग-अलग टॉयलेट और बाउंड्री वॉल होना चाहिए।

आधार कार्ड जरूरी

बोर्ड परीक्षा में इस बार भी छात्रों को अपना आधार कार्ड लाना होगा। बिना आधार कार्ड के परीक्षार्थी को परीक्षा में शामिल नहीं किया जाएगा।

कॉपी पर कोड

10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा में नकल को रोकने के लिए इसबार सभी कॉपियों पर कोड लिखा जाएगा। जिन कापियों पर कोड होगा उन कॉपियों का ही मूल्यांकन किया जाएगा।

Next Story
Top