Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

रेलवे की एक गलती से बेरोजगार युवाओं की हो गयी बल्ले बल्ले, दोगुने पदों पर करनी पड़ी भर्ती

सहायक लोको पायलट की भर्ती में एक चूक सामने आयी है। पूर्वोत्तर रेलवे ने सहायक लोको पायलट की 865 पद निकले थे जिन पर भर्ती की जानी थी। पर एक चूक की वजह से 1681 पद निकल दिए गए।

रेलवे की एक गलती से बेरोजगार युवाओं की हो गयी बल्ले बल्ले, दोगुने पदों पर करनी पड़ी भर्ती
X

रेलवे की एक चूक ने कई युवाओं के रोजगार का रास्ता खोल दिया है। जहा ऐसा माना जाता है कि एक चूक बहुत ही भारी पड़ती है पर रेलवे में ये एक चूक लोगो और युवाओं के लिए परेशानी का सबब नहीं बल्कि खुशखबरी लेकर आई है।

सहायक लोको पायलट की भर्ती में एक चूक सामने आयी है। यह बात है पूर्वोत्तर रेलवे की। दरसअल बात यूं हुई की पूर्वोत्तर रेलवे ने सहायक लोको पायलट की 865 पद निकले थे जिन पर भर्ती की जानी थी। पर एक चूक की वजह से 1681 पद निकल दिए गए। इसका परिणाम भी घोषित हो गया है। मामला तब सामने आया जब नियुक्ति प्रक्रिया शुरु हुई। पर अब रेलवे ने सभी कैंडिडेट्स को समायोजित करने का फैसला किया है।

2018 में पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर की तरफ से सहायक लोको पायलट की भर्ती की कारवाई शुरु करवाई थी जिसमें 1681 पद पर ये प्रक्रिया शुरु की गयी थी। तीन स्तर पर परीक्षा भी करवाई गयी। जिसके चलते मेडिकल और अन्य दस्तावेजों की जांच होने के बाद सब क्लियर कर दिया गया। पर बाद में पता चला की जितने पदों पर नियुक्ति की जा रही है उतने पद तो है ही नहीं।

मामला संज्ञान में आने क बाद गोरखपुर रेल प्रशासन ने रेलवे बोर्ड को पत्र लिखा जिसके बाद रेलवे बोर्ड ने पत्र का संज्ञान लेते हुए दो जून को छात्रों के हित में फैसला करते हुए देश के सभी आरआरबी (RRB) को पत्र लिखकर रिक्त पदों पर भर्ती करने को कहा है। रेल प्रशासन ने मामले की जांच शुरू करा दी है साथ ही दूसरे जोन में शेष उत्तीर्ण अभ्यिथियों को समायोजित कराने की प्रक्रिया शुरू करा दी है। मामले की जांच करवाई जा रही है कि कैसे कम पद से ज्यादा पद अपने आप ही बढ़ गए।

और पढ़ें
Next Story