Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बोर्ड परीक्षा में फेल हुए 2 लाख स्टूडेंट को पास होने का फिर मिलेगा मौका

बोर्ड की परीक्षा में फेल हुए 10 वीं- 12 वीं के करीब दो लाख छात्रों को फिर से परीक्षा देकर पास होने का मौका मिलेगा।

बोर्ड परीक्षा में फेल हुए 2 लाख स्टूडेंट को पास होने का फिर मिलेगा मौका

बोर्ड की परीक्षा में फेल हुए 10 वीं- 12 वीं के करीब दो लाख छात्रों को फिर से परीक्षा देकर पास होने का मौका मिलेगा। इसे अवसर परीक्षा का नाम दिया गया है। मंडल ने यह व्यवस्था करते हुए कहा है कि बोर्ड परीक्षा में फेल हुए विद्यार्थियों को पूरक के अलावा यह अवसर परीक्षा का मौका मिलेगा।

परीक्षार्थी इसमें पास होकर इसी साल अगली कक्षाओं में प्रवेश ले सकेंगे। अधिकारियों के अनुसार जल्द ही अवसर परीक्षा का कार्यक्रम जारी कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि दसवीं-बारहवीं बोर्ड में एक विषय में फेल हुए विद्यार्थियों को पूरक की पात्रता मिली है जबकि इससे अधिक विषय में फेल हुए विद्यार्थी माशिमं से फेल घोषित किए गए हैं।

इन्हें भी पूरक की पात्रता वाले विद्यार्थियों के साथ परीक्षा का मौका मिले, इसी उद्देश्य को लेकर माशिमं ने चार साल पहले अवसर परीक्षा की शुरुआत की है। पहले के एक-दो वर्ष में इस परीक्षा में विद्यार्थियों की संख्या कम रहती थी, लेकिन अब धीरे-धीरे इस परीक्षा में भी विद्यार्थी शामिल हो रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः स्कूल खुलने में कुछ हफ्ते बाकी, बच्चों को स्कूल के लिए ऐसे करें तैयार

परीक्षा पास करने के मिलेंगे चार मौके

मंडल के अधिकारियों के मुताबिक अवसर परीक्षा में भी फेल होने वाले विद्यार्थियों को परीक्षा पास करने के लिए चार अवसर दिए जाते हैं। पहला अवसर वह परीक्षा है, जिसमें छात्र फेल हुए।

दूसरे अवसर की परीक्षा पूरक के साथ होगी। फिर तीसरी अवसर परीक्षा नए साल में सामान्य बोर्ड परीक्षा के साथ होगी तो चौथे वर्ष की अवसर की परीक्षा उस सत्र की पूरक के साथ होगी। अवसर परीक्षा में छात्र जो विषय पास होते जाएंगे, उसकी परीक्षा उन्हें नहीं देनी पड़ेगी।

अवसर व पूरक परीक्षा में यह है अंतर

माशिमं के अधिकारियों के मुताबिक अवसर व पूरक परीक्षा में कुछ अंतर है। अवसर परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थी नियमित नहीं बल्कि प्राइवेट छात्र के रूप में शामिल होते हैं।

इसके अलावा पास होने पर इन स्टूडेंट की अंकसूची में अवसर परीक्षा का जिक्र रहेगा। गौरतलब है कि पिछले वर्ष अवसर परीक्षा में करीब सवा लाख विद्यार्थी शामिल हुए थे। इस बार छात्रों की संख्या करीब दो लाख तक होने की संभावना है।

यह भी पढ़ेंः UPSC Exam 2018: 3 जून को होगी यूपीएससी एग्जाम, सभी परीक्षा केंद्रों में लगाए जाएंगे जैमर

जुलाई में हो सकती है यह अवसर परीक्षा

दसवीं-बारहवीं की अवसर परीक्षा जुलाई के आखिरी सप्ताह में होने की बात अधिकारी कर रहे हैं। बोर्ड के नतीजों के बाद पुनर्मूल्यांकन-पुनर्गणना के लिए आवेदन की प्रक्रिया समाप्त हो गई है।

अधिकारियों ने बताया कि जून में इसके नतीजे आने के बाद ही पूरक अैार अवसर परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू होगी। गौरतलब है कि 40 हजार से अधिक परीक्षार्थियों ने पुनर्मूल्यांकन-पुनर्गणना के लिए आवेदन किया है।

Next Story
Share it
Top