Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सेना भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, रिटायर्ड सैनिक समेत तीन गिरफ्तार

सेना की खुफिया शाखा से मिली सूचना पर मेरठ एस टी एफ ने सेना भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक सेवानिवृत्त सैनिक भी शामिल है।

सेना भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, रिटायर्ड सैनिक समेत तीन गिरफ्तार

सेना की खुफिया शाखा से मिली सूचना पर मेरठ एस टी एफ ने सेना भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक सेवानिवृत्त सैनिक भी शामिल है।

एसटीएफ के क्षेत्राधिकारी बृजेश कुमार ने पीटीआई भाषा को रविवार को बताया कि पिछले दो-तीन साल से सेना भर्ती में धांधली का गोरखधंधा चल रहा था। गिरोह एक अभ्यर्थी से दो से तीन लाख रुपये लेकर मेडिकल में पास कराने की गारंटी देता था।सेना की खुफिया शाखा कंकरखेड़ा थाने में तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

यह भी पढेंः UPPSC 2016 की इंटरव्यू तिथि हुई घोषित, उम्मीदवरों को मिलेगा मॉक इंटरव्यू का मौका

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तों की पहचान आशीष निवासी कंकरखेड़ा सैनिक विहार, वीर बहादुर सिंह निवासी तुलसी कॉलोनी कंकरखेड़ा और विक्टर राघव निवासी अजंता कॉलोनी मेडिकल के रूप में हुई है। इनमें से आशीष एक कोचिंग सेंटर में अध्यापक था। वीर बहादुर सिंह सेना का सेवानिवृत्त लांस नायक है।

उसकी सेना में अधिकारियों से जान पहचान है। एसटीएफ के अनुसार विक्टर राघव के अलावा उसका पिता अजब सिंह भी सेना भर्ती के नाम पर धांधली करने वाले गिरोह का सदस्य है। बृजेश कुमार के मुताबिक पकड़े गए अभियुक्तों के पास से करीब दो दर्जन अभ्यर्थियों की मार्कशीट तथा अन्य प्रमाणपत्र बरामद हुए हैं।

यह भी पढेंः मास्टर ऑफ कम्युनिकेशन कोर्स के लिए बेस्ट हैं ये टिप्स, कमाई होगी लाखों में

इन अभ्यर्थियों से सम्पर्क करने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि पता लगाया जा सके कि इन लोगों ने कितने लोगों से ठगी की है। सेना की खुफिया शाखा भी आरोपियों से पूछताछ कर रही है। उन्होंने इस मामले में सेना के अधिकारियों की मिलीभगत की संभावना से इंकार किया है।

Next Story
Share it
Top