logo
Breaking

सुरलोक 2019 का रंगारंग शुभारम्भ, डॉ. मनमोहन कौर ने बताई आज की दो महत्वपूर्ण विशेषताएं

श्री गुरु नानक देव खालसा कॉलेज (करोल बाग़ दिल्ली) में 13 फरवरी बुधवार को सांस्कृतिक वार्षिकोत्सव ''सुरलोक 2019'' का रंगारंग शुभारम्भ पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के डिप्टी डॉयरेक्टर अशोक कुमार ने दीप प्रज्ज्वलन करके किया। उसके बाद कॉलेज की प्रार्थना ''दीवा बले अंधेरा जाए'' में कॉलेज की डिविनिटी सोसाइटी के बच्चों शानदार परफॉर्मेंस से इस लम्हे को यादगार बना दिया।

सुरलोक 2019 का रंगारंग शुभारम्भ, डॉ. मनमोहन कौर ने बताई आज की दो महत्वपूर्ण विशेषताएं

श्री गुरु नानक देव खालसा कॉलेज (करोल बाग़ दिल्ली) में 13 फरवरी बुधवार को सांस्कृतिक वार्षिकोत्सव 'सुरलोक 2019' का रंगारंग शुभारम्भ पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के डिप्टी डॉयरेक्टर अशोक कुमार ने दीप प्रज्ज्वलन करके किया। उसके बाद कॉलेज की प्रार्थना 'दीवा बले अंधेरा जाए' में कॉलेज की डिविनिटी सोसाइटी के बच्चों शानदार परफॉर्मेंस से इस लम्हे को यादगार बना दिया। इस मौके पर खालसा कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. मनमोहन कौर प्रबंधक कमेटी के सरदार रणजीत सिंह साहनी और कॉलेज के वाइस प्रिंसिपल डॉ. गुरमोहिन्दर सिंह उपस्थित थे। सभी अतिथियों का स्वागत पुष्प और शॉल भेंट करके किया गया।

डॉ. मनमोहन कौर ने इस दिन की विशेषताएं बताते हुए कहा कि 13 फरवरी के दिन ही लॉर्ड इरविन ने नई दिल्ली को राजधानी का दर्जा दिया गया था और आज के दिन ही भारत कोकिला सरोजनी नायडू का जन्मदिन होता है, इसलिए ये दिन ऐतिहासिक तौर पर यादगार दिन है।

उन्होंने कहा कि सुरलोक में शैक्षिणकऔर सांस्कृतिक दोनों तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन होता है। मुख्य अतिथि अशोक कुमार ने बतायाकि वे इसी कॉलेज में शिक्षण कार्य कर चुके हैं। यही रहते हुए ही उन्होंने सिविल सेवा की तैयारी की और फिर वे आई आर एस में नियुक्त हुए।

उन्होंने दोबारा कॉलेज में आकर काफीख़ुशी महसूस हुई। तीन दिन चलने वाले इस वार्षिक महोत्सव सुरलोक के पहले दिन जस गायन (गुरबाणी कीर्तन),सप्तक (शास्त्रीय संगीत), देशी बीट्स (लोक नृत्य), ताल (एकल वादन), पॉप कल्चरल क़्विज, सोहणी दस्तार (पगड़ी बांधना), कागज़-ए-कारीगिरी (पेपर क्रॉफ्ट), चित्रकथा (फोटोग्राफी) समेतअनेक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

इसमें विभिन्न कॉलेजों के अनेक छात्र-छात्राओं ने भाग लिया। सप्तक प्रतियोगिता में इंद्रप्रस्थ कॉलेज फॉर वुमेन को प्रथम, मैत्री कॉलेज को द्वितीय और शहीद भगत सिंह कॉलेज और सेंट स्टीफन कॉलेज को सांत्वना पुरस्कार मिला। वहीं जस गायन में दूसरा पुरस्कार एस जी.टी.बी खालसा कॉलेजऔर एस जी जी एस कॉलेज और कॉमर्स और माता सुन्दरी कॉलेज और वुमेन को मिला।

Share it
Top