Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NEET व JEE के छात्र इस रणनीति के साथ करें तैयारी

मेडिकल की बात करें तो देश में नीट, एम्स के रूप में तीन तरह की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित होती है। नीट और जेईई परीक्षा में देशभर से लाखों छात्र शामिल होते है।

NEET व JEE के छात्र इस रणनीति के साथ करें तैयारी

मेडिकल/ इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं का दौर नोटिफिकेशन के आते ही शुरू हो जाता है, मेडिकल की बात करें तो देश में नीट, एम्स और जीपमर के रूप में तीन तरह की प्रवेश परीक्षाएं आयोजित होती है। जिसमें नीट सवार्धिक महत्वपूर्ण है, इस परीक्षा में देशभर से लाखों छात्र शामिल होते है, वहीं राज्यों से भी बड़ी संख्या छात्रों की होती है। 

एक्सपर्ट बताते है कि इसके सिलेबस पर गौर किया जाए तो जितना महत्वपूर्ण 12वीं का सिलेबस है, उतना ही महत्वपूर्ण 11वीं का सिलेबस भी है, पिछले वर्ष 11वीं से 352 अंकों के सवाल पूछे गए थे, वहीं 12वीं से 368 अंकों के सवाल थे, आकड़ों को देखे तो परीक्षार्थी के नीट पास होने में 11वीं के सिलेबस की भूमिका लगभग आधा होती है।

यह भी पढ़ेंः CBSE ने दिया एक और झटका, 9वीं से 12वीं के छात्रों के लिए इस विषय को किया अनिवार्य
इंस्टीट्यूट के डायरेक्टर रंजीत कुमार ने कहा- मेडिकल व इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा पास करने में जीतना महत्वपूर्ण सेलेबस का अध्ययन है उतना ही महत्वपूर्ण रणनीति नर्मिाण का। सही समय, सही रणनीति परीक्षा पास कराने में मददगार होती है।

नीट की परीक्षा में सवालों को हल करने के लिए समय काफी कम होता है, इसलिए कम समय में ज्यादा सवाल हल करने के लिए शॉर्टकट तरीके को अपनाने की अभी से प्रेक्टिस करें, मॉक टेस्ट देते समय, शॉर्टकट तरीकों की भी प्रेक्टिस ज्यादा से ज्यादा करें इससे आप नर्धिारित समय में सभी सवालों को हल कर पाएंगे।
(भाषा-इनपुट)
Next Story
Top