logo
Breaking

पीईटी 2018: 86 फीसदी छात्रों ने दिया पीईटी का एग्जाम, मैथ्स और फिजिक्स ने किया परेशान

प्रदेश के इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए आयोजित की गई प्री इंजीनियरिंग टेस्ट में गणित के सवालों के छात्रों को परेशान किया।

पीईटी 2018: 86 फीसदी छात्रों ने दिया पीईटी का एग्जाम,  मैथ्स और फिजिक्स ने किया परेशान

प्रदेश के इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए आयोजित की गई प्री इंजीनियरिंग टेस्ट में गणित के सवालों के छात्रों को परेशान किया। व्यावसायिक परीक्षा मंडल द्वारा आयोजित इस परीक्षा में छात्रों ने मैथ्स सेक्शन के प्रश्नों के लैंदी होने की बात कही।

फिजिक्स के सवाल भी अन्य विषयों की तुलना में कठिन रहे। हालांकि आउट ऑफ सिलेबस प्रश्न पूछे जाने या इस तरह की अन्य शिकायतें छात्रों ने नहीं की। प्रश्न गत वर्षों की अपेक्षा सामान्य और आसान रहे।

गौरतलब है कि देशभर के इंजीनियरिंग महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए अगले वर्ष से केंद्र सरकार द्वारा नीट की तर्ज पर एकीकृत प्रवेश परीक्षा की तैयारी की जा रही है।

इस वर्ष से ही एकीकृत प्रवेश परीक्षा ली जानी थी, लेकिन तैयारी न हो पाने के चलते इसे अगले वर्ष तक के लिए टाल दिया गया है। ऐसे में संभवत: यह अंतिम बार है, जब पीईटी का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ेंः NEET Exam 2018: के लिए नया ड्रेस कोड जारी, सीबीएसई के सख्त आदेश - न करें अनदेखा

दुर्ग में 10 और रायपुर में 8 केंद्र

पीईटी में सर्वाधिक परीक्षार्थी दुर्ग जिले से शामिल हुए। 3,614 कैंडिडेट्स यहां परीक्षा में सम्मिलित हुए। छात्रों की संख्या को देखते हुए राज्य में सबसे अधिक केंद्र दुर्ग में बनाए गए थे।

यहां 10 सेंटर व्यापम ने बनाए। रायपुर में 8 परीक्षा केंद्रों में पीईटी हुई। रायपुर में 3,361 छात्रों ने पीईटी दी। पूरे राज्य में पीईटी के लिए 65 सेंटर बनाए गए थे।

पीईटी के लिए 21,771 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन केवल 86.55 प्रतिशत छात्र ही उपस्थित रहे। पिछले दस वर्षों की तुलना में इस बार सबसे कम छात्र पीईटी में शामिल हुए।

यह भी पढ़ेंः JEE Advanced 2018: जेईई एडवांस्ड एग्जाम 20 मई को, इस दिन तक कर सकते हैं आवेदन

सामान्य रहा पीपीएचटी

प्रथम पाली में पीईटी तथा दूसरी पाली में पीपीएचटी ली गई। इसके लिए व्यापम ने 51 केंद्र बनाए थे। 15,953 छात्रों ने इसके लिए आवेदन किया था। परीक्षा में उपस्थित रहने वाले छात्रों की संख्या 13, 979 यानी 87.63 प्रतिशत रही। रायपुर में 6 सेंटर में पीपीएचटी हुई। पीपीएचटी का पर्चा सामान्य रहा।

सुरक्षा जांच के बाद प्रवेश

पीईटी और पीपीएचटी दोनों ही प्रवेश परीक्षा में छात्रों को कड़ी सुरक्षा जांच से गुजरना पड़ा। ड्रेस कोड संबंधी निर्देश व्यापम ने पहले ही जारी कर दिए थे। परीक्षा में बरती जा रह कड़ाई को देखते हुए अधिकतर छात्र स्वमेव ही हाफ आस्तीन के कपड़े और चप्पल में पहुंचे थे।

अन्य किसी भी तरह के इलेक्ट्रानिक डिवाइस को भी प्रतिबंधित किया गया था। छात्रों को केंद्र में एक घंटे पहले उपस्थित होने कहा गया था। घंटेभर पहले ही सुरक्षा जांच शुरू हो गई थी।

इनपुट-भाषा

Share it
Top