Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

60 नए मॉडल डिग्री कॉलेज और 29 प्रोफेशनल कॉलेजों को मंजूरी

रूसा के तहत विवि आधारभूत संरचना विकास के लिए दिए जाने वाले अनुदान के तहत 117 राज्य विवि को समर्थन दिया जा रहा है।

60 नए मॉडल डिग्री कॉलेज और 29 प्रोफेशनल कॉलेजों को मंजूरी

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री (एचआरडी) प्रकाश जावड़ेकर ने राष्ट्रिय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) की समीक्षा करते हुए कहा कि प्राथमिक से लेकर उच्च-शिक्षा की गुणवत्ता सुधारना सरकार की मुख्य प्राथमिक्ता है। जब तक हम शिक्षा की गुणवत्ता को बेहतर नहीं बनाते हैं, तब तक हम सक्षम लोग और अच्छे नागरिक तैयार नहीं कर पाएंगे। यहां सोमवार को इस बाबत आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने उच्च-शिक्षा को सुदृढ़ बनाने संबंधी 17 सुविधाआें व योजनाओं का शुभारंभ किया। इसमें हरियाणा के महर्षि दयानंद विवि में कम्प्युटर लैब (आधारभूत संरचना ग्रांट), गर्वमेंट रानी दुर्गावती कॉलेज, मप्र को आधारभूत संरचना ग्रांट (अकेडमिक ब्लॉक), जम्मू-कश्मीर में एक क्लस्टर विवि, केरल में श्री शंकराचार्य संस्कृत विवि में सौर ऊर्जा सुविधा, झारखंड के घाटशिला कॉलेज में भाषा प्रयोगशाला की स्थापना शामिल है।

ऐप से होगी निगरानी

जावड़ेकर ने कार्यक्रम में रूसा अभियान की निगरानी व इससे जुड़े डेटा को आॅनलाइन जांचने के लिए ‘फंड एंड रिफॉर्म ट्रैकर’ नामक मोबाइल ऐप भी लांच किया। रूसा के तहत 14 राज्यों में योजनाएं पूरी हुई हैं। इस योजना का मकसद राज्य के उच्चतर शिक्षा विभागों को केंद्रीय वित्त पोषण प्रदान करना है, जिससे संस्थान शिक्षा को सुगम, समतामूलक और उत्कृष्ट बनाने के लक्ष्यों को हासिल कर सके। पिछले तीन वर्षों में योजना के तहत गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए विभिन्न कॉलेजों-विवि को 2 हजार 800 करोड़ रुपए का अनुदान दिया गया है। इस वर्ष इस उद्देश्य के लिए 1300 करोड़ रुपए का बजटीय आवंटन किया गया है। इन सुविधाआें के बारे में एचआरडी मंत्री ने 12 राज्यों के शिक्षा मंत्रियों, सचिवों व राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान के अधिकारियों के साथ चर्चा की थी। रूसा से दो हजार से अधिक कॉलेजों, विवि को सहयोग दिया जा रहा है।

जीईआर 24.5 हुई

2012 (20.8 फीसदी) में रूसा अभियान शुरू होने के बाद वर्ष 2015-16 में उच्चतर शिक्षा के स्तर पर सकल नामांकन दर (जीईआर) 24.5 फीसदी हो गई है। इसमें पुरूष जीईआर 25.4, महिला 23.5 फीसदी है। 30 राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों ने इस बाबत परिषद का गठन किया है। रूसा की उपलब्धि रिपोर्ट के हिसाब से 34 राज्यों, केंद्रशासित प्रदेशों ने उच्चतर शिक्षा योजना बनाई है। 2016-17 में आठ स्वायत्त कॉलेजों का उन्नयन विवि के रूप में किया गया है। राज्यों में शिक्षकों की नियुक्ति प्रकिया शुरू कर दी है।

क्लस्टर विवि विकास

उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कॉलेजों के 20 किमी.के दायरे में 8 क्लस्टर विवि का विकास करने के लिए चिन्हित किया गया है। ये संस्थान अंतर-बहुविषय कार्यक्रम पेश करेंगे, रचनात्मक, नवोन्मेषी, समग्र पठन पाठन प्रदान करने की व्यवस्था बनाएंगे। इससे शोध के स्वरूप में बदलाव किया जा सकता है, जो पारंपरिक तौर पर गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने पर जोर देते रहते हैं। ये संस्थान अपने लिए ब्रांड वैल्यू सृजित करेंगे और मेधावी छात्रों को आकर्षित करेंगे। ऐसे संस्थान जम्मू-कश्मीर, हिप्र, ओडिशा, महाराष्ट्र, मणिपुर, कर्नाटक, उप्र, पुड्डुचेरी जैसे राज्यों में स्थापित किए जाने की योजना है।

60 नए कॉलेज को मंजूरी

रूसा के तहत विवि आधारभूत संरचना विकास के लिए दिए जाने वाले अनुदान के तहत 117 राज्य विवि को समर्थन दिया जा रहा है। अभियान से 60 नए मॉडल डिग्री कॉलेज, 29 प्रोफेशनल कॉलेजों को मंजूरी दी गई। नए मॉडल कॉलेज की अवधारणा 11वीं पंचवर्षीय योजना के दौरान पूर्ववर्ती योजना का हिस्सा रहा है। 12वीं योजना के तहत पहले ही 60 के लक्ष्य को हासिल कर लिया गया है। डिग्री कॉलेज को मॉडल कॉलेज के रूप में उन्नत करने की योजना के तहत अब तक 54 कॉलेजों को मंजूरी दी गई है। कॉलेजों को आधारभूत संरचना के विकास के लिए अनुदान प्रदान की पहल के तहत 1250 कॉलेजों को सहायता दी जा रही है। शिक्षकों की बेहतरी, प्रशिक्षण के लिए मानव संसाधन विकास केंद्रों को समर्थन देने की पहल की गई है। शिक्षा में व्यवसायिक पहल को बढ़ाने के लिए योजना के तहत 7 राज्यों को सहयोग दिया जा रहा है।

Next Story
Top