Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Mohini Ekadashi 2020: मोहिनी एकादशी का अचूक वशीकरण मंत्र, खींचा चला आएगा आपका खोया प्यार

Mohini Ekadashi 2020 : वैशाख माह के शुक्ल पक्ष में यह तिथि पड़ती है। जो भी लोग अपने प्रेम संबंधों को सुधारना चाहते हैं। अपने प्रेमी या प्रेमका को वापस पाना चाहते हैं। तो उसे इस दिन के द्वारा सुधार सकते हैं और वशीकरण मंत्र का जप कर सकते हैं।

Mohini Ekadashi 2020: मोहिनी एकादशी का अचूक वशीकरण मंत्र, खींचा चला आएगा आपका खोया प्यार
X
मोहिनी एकादशी वशीकरण मंत्र

Mohini Ekadashi 2020 : मोहिनी एकादशी जीवन के लिए खास दिन है। 3 मई (रविवार) मोहिनी एकादशी होगी। वैशाख माह के शुक्ल पक्ष में यह तिथि पड़ती है। जो भी लोग अपने प्रेम संबंधों को सुधारना चाहते हैं। अपने प्रेमी या प्रेमका को वापस पाना चाहते हैं। तो उसे इस दिन के द्वारा सुधार सकते हैं और अपने जीवन को वापस से प्रेम भरा बना सकते हैं। मोहिनी एकादशी बहुत ही खास दिन है।

इस दिन भगवान विष्णु ने मोहिनी रूप में अवतार ग्रहण किया था। मोहिनी अवतार भगवान के विशेष अवतार है, क्योंकि स्त्री अवतार है। जब समुद्र मंथन हुआ एक ओर देवता हैं दूसरी और दानव है। अमृत के लिए जब समुद्र का मंथन किया गया। मेरू पर्वत के मथनी बनाया गया, वासु की नाक को रस्सी बनाया गया। मंथन पूरा होने पर अमृत प्राप्त हुआ। देव और दानवों में अमृत पाने की होड़ मच गई। मोहिनी रूप धारण कर भगवान विष्णु ने अमृत का कलश मांगा। तब सभी देवताओं को बारी बारी से अमृत का पान कराया।

मोहिनी एकादशी का वशीकरण मंत्र

मोहिनी एकादशी के दिन यानि 3 मई के दिन सुबह स्नान आदि कर के एक वैजंती की माला ले लें। भगवान विष्णु के मोहिनी स्वरूप की एक तस्वीर अपने सामने रख लें और उनको देखते हुए जो भी आपका प्रेमी, प्रेमिका, पति या पत्नि है उसका नाम उच्चारित करते हुए ऊँ मोहिनी महा मोहिनी अमृत वासिनी। मोहिनी (अमुख/ नाम) मोहय मोहय स्वाहा।। मंत्र का 108 बार वैजंती की माला पर जप करें।

मोहिनी एकादशी के दिन से यह जप शुरू होगा और यह दिन तक जप करना है यानि 3 मई, 4 और 5 मई इस मंत्र का जप करें। इन तीन दिन आप इस मंत्र का प्रयोग और उस व्यक्ति के नाम का उपयोग करें। ऐसा करने से निश्चित रूप से आपका जो प्रेमी या प्रेमिका, पति या पत्नि उनसे आप दूर हो गए है या प्रेम संबंध अच्छा नहीं चल रहा है तो वापस से वह व्यक्ति अपके मोह में आने लगेगा और आपसे प्रेम करने लगेगा और आपके संबंधों में सुधार होगा।

यदि तीन दिन बाद आपको इस मंत्र का कोई फल प्राप्त नहीं होता है तो आप निश्चित जान लिजिए की आपकी कुंडली के योग बहुत ही खराब है। इसीलिए आपके किए हुए काम आपको सफलता नहीं दे रहें हैं।

Next Story