logo
Breaking

JNU में इंजीनियरिंग कोर्स के लिए जुलाई से एडमिशन होंगे प्रारंभ

जेएनयू में जुलाई से इंजीनियरिंग के दो पाठ्यक्रमों में प्रवेश होंगे। छात्रों का इंजीनियरिंग कोर्स के लिए जेएनयू में प्रवेश जेईई मेन की रैंक के आधार पर किया जाएगा।

JNU में इंजीनियरिंग कोर्स के लिए जुलाई से एडमिशन होंगे प्रारंभ

जेएनयू में जुलाई से इंजीनियरिंग के दो पाठ्यक्रमों में प्रवेश होंगे। बीटेक इंजीनियरिंग के पहले बैच में छात्रों को कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग और इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में ड्यूल डिग्री प्रोग्राम की पढ़ाई करने का मौका मिलेगा।

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के रेक्टर 2 और उपकुलपति प्रोफेसर सतीश ने बताया कि जुलाई में शैक्षिक सत्र 2018-19 के लिए स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग का नया केंद्र प्रारंभ हो जाएगा।

यह पांच वर्षीय इंटीग्रेडिट कोर्स होगा, जिसमें बीटेक-एमटेक या बीटेक-एमएस कोर्स का विकल्प रहेगा। कोई भी छात्र बीटेक प्रोग्राम में प्रवेश लेने के बाद बीच में पढ़ाई नहीं छोड़ सकता है। उपकुलपति प्रोफेसर सतीश ने बताया कि दोनों कोर्सों में 50-50 सीटें तय की गई हैं।

जेईई मेन की रैंक के आधार प्रवेश

छात्रों का इंजीनियरिंग कोर्स के लिए जेएनयू में प्रवेश जेईई मेन की रैंक के आधार पर किया जाएगा। जेएनयू की अकादमिक काउंसिल की 18 मई हुई बैठक में डयूल डिग्री इंजीनियरिंग कोर्स में प्रवेश पॉलिसी पास हुई थी।

आपको बतादें कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए एनआईटी, एमआईटी को इंजीनियरिंग की सीट ऑवंटित करने वाला सेंट्रल सीट एलोकेशन बोर्ड ही केंद्रीय काउंसलिंग करेगा।

Share it
Top