Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

JEE Advance 2018: जॉइंट एडमिशन बोर्ड ने फिर जारी की लिस्ट, 13 हजार 842 बच्चों को मिलेगा

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) के निर्देश के बाद जॉइंट एडमिशन बोर्ड (जैब) ने जेईई एडवांस परीक्षा को लेकर दोबारा एक विस्तृत सूची जारी कर दी है।

JEE Advance 2018: जॉइंट एडमिशन बोर्ड ने फिर जारी की लिस्ट, 13 हजार 842 बच्चों को मिलेगा

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) के निर्देश के बाद जाइंट एडमिशन बोर्ड (जैब) ने जेईई एडवांस परीक्षा को लेकर दोबारा एक विस्तृत सूची जारी कर दी है। इसके जरिए 13 हजार 842 बच्चों को फिर से परीक्षा में क्वालिफाई करने का मौका मिल गया है और अब आईआईटी-जेईई प्रवेश परीक्षा पास करने वाले कुल बच्चों का आंकड़ा बढ़कर 31 हजार 980 हो गया है।

पूर्व में जारी हुए परिणाम के हिसाब से कुल 18 हजार 138 बच्चों द्वारा परीक्षा क्वालिफाई करने की जानकारी दी गई थी। मंत्रालय के सूत्रों ने हरिभूमि को बताया कि विभागीय निर्देश के बाद जैब ने बृहस्पतिवार को इस संबंध में एक आपात बुलाकर यह निर्णय लिया है। परिणाम जानने के इच्छुक छात्र आईआईटी की रिजल्ट संबंधी वेबसाइट पर जाकर जरुरी बॉक्स में अपना रोलनंबर डालकर जान सकते हैं।

गौरतलब है कि विस्तृत सूची जारी करने के पीछे केंद्रीय एचआरडी मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की आईआईटी में दाखिले को लेकर एक भी सीट खाली न रहने की सोच की भी अहम भूमिका रही है। उन्होंने परिणाम के तुरंत बाद अपना रुख स्पष्ट करते हुए कहा था कि आईआईटी में एक भी सीट खाली नहीं रहनी चाहिए। क्योंकि प्रत्येक सीट बेहद महत्वपूर्ण होती है।

15 जून को होगी काउंसलिंग

जैब की विस्तृत सूची के बाद दाखिले के लिए सीट आवंटन के लिए की जाने वाली छात्रों की काउंसलिंग की प्रक्रिया 15 जून से शुरु होगी। मंत्रालय का मानना है कि इस निर्णय से आईआईटी की प्रवेश परीक्षा की ओवरऑल कटऑफ सूची में सुधार होगा और ज्यादा बच्चों को इन प्रतिष्ठित संस्थानों में पढ़ने का मौका मिलेगा। जैब की विस्तृत सूची के हिसाब से जनरल श्रेणी के 8 हजार 954, ओबीसी 3 हजार 824, एससी 771 और एसटी वर्ग के 293 बच्चों को आईआईटी में दाखिला लेने का मौका मिलेगा। यह आंकड़ा मिलकर 13 हजार 842 हो जाता है। गौरतलब है कि पूर्व में जारी किए गए 18 हजार 138 के आंकड़ें में जनरल वर्ग के 8 हजार 794, ओबीसी के 3 हजार 140, एससी के 4 हजार 709 और एसटी 1495 बच्चों ने क्वालिफाई किया था।

जैब की मनाही

दाखिले में आईआईटी प्रबंधन की सबसे महत्वपूर्ण इकाई माने जाने वाले जाइंट एडमिशन बोर्ड की इस विषय को लेकर बुधवार को भी एक बैठक हुई थी। लेकिन उसमें बोर्ड ने पूर्व में जारी किए गए अपने परीक्षा परिणाम पर न केवल संतोष जाहिर किया था। बल्कि नियम-कायदों के हिसाब से भी उसे सटीक माना था। लेकिन देर रात एचआरडी मंत्रालय की ओर से भेजे गए निर्देश के बाद जैब ने फिर से बैठक कर बृहस्पतिवार को विस्तृत सूची जारी करने का ऐलान किया।

सीटें खाली रहने का था डर

मंत्रालय की इस कवायद के पीछे कटऑफ सूची कम रह जाने की वजह से आईआईटी में काफी सीटें खाली रह जाने का डर था। इसी के चलते एचआरडी ने जैब को उक्त आदेश जारी किया। गौरतलब है कि आईआईटी में सामान्य कटऑफ 126 अंक की थी। जिसे अब घटाकर 90 अंक कर दिया गया है।

Next Story
Top