logo
Breaking

MHRD का बड़ा फैसलाः एडमिशन कैंसिल करने पर कॉलेज लौटाएंगे फीस, वरना रद्द होगी मान्यता

एमएचआरडी ने अहम फैसला लिया है। यदि कोई छात्र किसी कॉलेज में दाखिला मिलने के बाद अपना नाम वापस लेता है, तो कॉलेजों को पूरी फीस लौटानी होगी।

MHRD का बड़ा फैसलाः एडमिशन कैंसिल करने पर कॉलेज लौटाएंगे फीस, वरना रद्द होगी मान्यता

निजी कॉलेजों की मनमानी पर रोक लगाने और छात्रहित को देखते हुए एमएचआरडी ने अहम फैसला लिया है। यदि कोई छात्र किसी कॉलेज में दाखिला मिलने के बाद अपना नाम वापस लेता है, तो कॉलेजों को पूरी फीस लौटानी होगी।

ऐसा न करने की स्थिति में कॉलेजों पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए एआईसीटीई व यूजीसी के अधीन आने वाले सभी विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों को सर्कुलर जारी किया जाएगा।

कई बार देखा गया है कि कुछ संस्थान फीस नहीं लौटाते या बड़ी रकम काट कर वापस करते हैं। ऐसी संस्थाओं को अब कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा।

यह भी पढ़ेंः RPF/ RPSF Recruitment 2018: रेलवे में 9500 पदों पर निकली बंपर भर्ती, ऐसे करे अप्लाई

ऐसा पेशेवर संस्थाओं की ओर से छात्रों का दोहन रोकने के उद्देश्य से किया जा रहा है। कोई संस्थान एआईसीटीई और यूजीसी के मानदंडों का पालन नहीं करता, तब ऐसे संस्थानों की मान्यता तक वापस ली जा सकती है।

शिकायत निवारण समिति देगी सफाई

यूजीसी ने कुछ समय पहले सभी विश्वविद्यालयों को अनिवार्य रूप से इस संबंध में अलग से शिकायत निवारण समिति (जीआरसी) गठित करने के निर्देश दिए थे।

यूजीसी के पास कोई शिकायत आने की स्थिति में वह विश्वविद्यालय की जीआरसी से सफाई मांगेगा। जीआरसी 20 दिन के अंदर अपना जवाब देगी। यदि यूजीसी इससे संतुष्ट नहीं होता, तो उस संस्थान के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा सकती है।

यह भी पढ़ेंः हरियाणा के नए पुलिस कांस्टेबलों में एमबीए, विधि स्नातक, एम टेक वाले शामिल

अन्य नियम भी

फीस वापसी के संबंध में नियम जारी करने के साथ ही अन्य नियम भी एमएचआरडी ने जारी किए हैं। नियमों के अनुसार, संस्थान एक बार में एक सेमेस्टर या वर्ष की ही फीस ले सकेंगे।

छात्रों को प्रॉस्पेक्टस खरीदने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकेगा और किसी भी स्थिति में छात्र का कोई मूल दस्तावेज नहीं रख सकेंगे। यूजीसी से संबद्ध सभी संस्थानों, विश्वविद्यालयों पर ये नियम लागू होंगे।

स्नातक, स्नातकोत्तर और शोध छात्रों को राहत के लिए ये प्रावधान किए गए हैं।

Share it
Top