Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

क्लिनिकल रिसर्च में बनाए करियर, रोजगार की भरपूर संभावनाएं

कोरोना संकट ने आपको इस क्षेत्र में प्रोफेशन बनाने के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया है। इसके लिए आप प्रशंसा की हकदार हैं। यह भी अच्छी बात है कि आप बायो से पढ़ाई कर रही हैं। इसके बाद आप फार्मेसी में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करके क्लिनिकल रिसर्च का क्षेत्र चुन सकती हैं।

179 तकनीकी काॅलेज इस वर्ष हुए बंद, पिछले नौ वर्षों का टूटा रिकाॅर्ड
X
कॅरियर (फाइल फोटो)

मैं इंटर बायो से कर रही हूं। मैं किसी ऐसे प्रोफेशन में जाना चाहती हूं, जिसमें खतरनाक बीमारियों की दवाएं और वैक्सीन बना सकूं। इसके लिए मुझे क्या करना चाहिए?

-भावना घई, चंडीगढ़

यह बहुत अच्छी बात है कि वर्तमान कोरोना संकट ने आपको इस क्षेत्र में प्रोफेशन बनाने के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया है। इसके लिए आप प्रशंसा की हकदार हैं। यह भी अच्छी बात है कि आप बायो से पढ़ाई कर रही हैं। इसके बाद आप फार्मेसी में ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन करके क्लिनिकल रिसर्च का क्षेत्र चुन सकती हैं। इसमें आप किसी रिसर्च संस्थान को ज्वाइन करके एक बड़े ग्रुप के साथ मिलकर खतरनाक बीमारियों के लिए मेडिसिन और वैक्सीन डेवलप करने का काम कर सकती हैं।

रिसर्च के दौरान अगर आप और आपकी टीम कोई नई औषधि या वैक्सीन विकसित करती है और उसे सभी परीक्षणों में सफल पाया जाता है, तो इस बारे में अंतरराष्ट्रीय गाइड लाइन के अनुसार आईसीएमआर और भारत सरकार के संबंधित विभागों की अनुमति मिल सकती है। यह क्षेत्र करियर के साथ-साथ समाज सेवा का भी काम होगा। इसमें काम करने की लगातार संभावनाएं हैं।

मैंने हाईस्कूल फर्स्ट डिवीजन से पास किया, लेकिन फिर इंटर और बीकॉम सेकेंड डिवीजन से पास कर सका। क्या मैं आईएएस बन सकता हूं? इसके लिए कैसे तैयारी करनी चाहिए?

-रवि प्रकाश, ईमेल से

आप डिवीजन को लेकर परेशान न हों और न ही इसे अपने ऊपर हावी होने दें। अगर आपको अपनी नॉलेज के साथ-साथ अच्छे करियर की चिंता है, तो आप सजगता के साथ इस पर ध्यान देंगे। जहां तक बात आईएएस की तैयारी की है, तो इससे संबंधित सिविल सेवा परीक्षा में शामिल होने के लिए न्यूनतम योग्यता किसी भी डिवीजन से किसी भी स्ट्रीम में ग्रेजुएशन है। अगर आप इसके प्रति गंभीर हैं, तो आपको सबसे पहले यूपीएससी की साइट से इस परीक्षा के सिलेबस को डाउनलोड करके अपने पास सुरक्षित रख लेना चाहिए और आगे उसके अनुसार टु द प्वाइंट तैयारी पर फोकस करना चाहिए।

बहुत ज्यादा पढ़ने की बजाय जो भी पढ़ें, उसके कॉन्सेप्ट को अच्छी तरह समझने का प्रयास करें। सामान्य अध्ययन के लिए एनसीईआरटी की छठीं से बारहवीं तक की पुस्तकों को आधार बनाएं। राष्ट्रीय समाचार पत्रों के जरिए देश-विदेश की खबरों से अपडेट रहें। इनके संपादकीय पन्नों की मदद से एस्से राइटिंग की स्किल डेवलप करें।

मैं बीए कर रहा हूं। पुलिस इंस्पेक्टर बनना चाहता हूं। इसके लिए क्या करना होगा?

-प्रदीप, बिलासपुर

हर राज्य की अपनी पुलिस होती है। इसमें भर्ती भी राज्य, मंडल और जिला स्तर पर होती है। इसके लिए आप राज्य पुलिस की वेबसाइट से संबंधित सूचना और आवश्यक योग्यताओं की जानकारी हासिल कर सकते हैं। भर्तियों के बारे में सूचना अखबारों में भी प्रकाशित की जाती है।

मैं पीसीएम से इंटर कर रहा हूं। मैं यह जानना चाहता हूं कि कंप्यूटर इंजीनियर बनने के लिए कौन-सा कोर्स करना होगा?

-महेंद्र कुमार, डोंगरगढ़

आप पीसीएम से बारहवीं के बाद बीटेक/बीई सीएस या आईटी में दाखिला ले सकते हैं। इसके अलावा, एक अन्य विकल्प बीसीए करने का भी है। इन कोर्सों के पूरा कर लेने के बाद आप कंप्यूटर इंजीनियर बन सकते हैं। हालांकि कोर्स के दौरान और उसके बाद भी आपको इंटरनेट की मदद से खुद को अपडेट रखने का हर संभव प्रयास करते रहना चाहिए, ताकि आप इंडस्ट्री की कसौटियों पर खरे उतर सकें।

Next Story