Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने स्टाफ नर्स भर्ती प्रक्रिया पर लगाई रोक

पात्र होने के बाद भी याचिकाकर्ताओं के नाम चयन सूची में शामिल नहीं किए जाने पर हाईकोर्ट ने स्टाफ नर्स की भर्ती प्रक्रिया पर आगामी आदेश तक के लिए रोक लगा दी है।

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने स्टाफ नर्स भर्ती प्रक्रिया पर लगाई रोक

पात्र होने के बाद भी याचिकाकर्ताओं के नाम चयन सूची में शामिल नहीं किए जाने पर हाईकोर्ट ने स्टाफ नर्स की भर्ती प्रक्रिया पर आगामी आदेश तक के लिए रोक लगा दी है। साथ ही नोटिस जारी कर राज्य शासन से जवाब-तलब किया है।

सूत्रों के अनुसार स्टाफ नर्स के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने 14 मार्च 2016 को विज्ञापन जारी किया था। 17 अप्रेल 2016 को व्यापमं के माध्यम से परीक्षा आयोजित कराने के बाद 03 जून 2016 को परीक्षा परिणाम घोषित किए गए थे। इस पद के

यह भी पढेंः खिलाड़ियों को मिला बड़ा तोहफा, सरकारी नौकरियों में मिलेगा 2 फीसदी कोटा

लिए कु. लक्ष्मीनीधि पुलत्स्य व कु.सीमा ठाकुर ने भी आवेदन देने के बाद परीक्षा में शामिल हुए थे। 23 जुलाई 2016 को 247 आवेदकों को नियुक्ति पत्र जारी किया गया।

विभाग ने 30 नवम्बर 2016 को याचिकाकर्ताओं को दस्तावेजों के सत्यापन के लिए बुलाया और 07 जनवरी 2017 को पात्र व अपात्र अभ्यर्थियों की सूची जारी की गई।

याचिकाकर्ताओं के नाम पात्र सूची में शामिल होने के बाद भी 01 फरवरी 2017 को जारी 15 लोगों की नियुक्ति पत्र में याचिकाकर्ताओं के नाम शामिल नहीं किए गए।

यह भी पढेंः झारखंड सरकार बड़ा फैसला, मेडिकल पढ़ाई छोड़ी तो देना होगा 30 लाख जुर्माना

16 मार्च 2017 को 26 लोगों को फिर नियुक्ति पत्र जारी किया गया। इसमें भी पात्र होने के बाद भी याचिकाकर्ताओं के नाम शामिल नहीं किए गए। इसके बाद 07 दिसम्बर 2017 को स्टाफ नर्स की नई भर्ती के लिए फिर से विज्ञापन जारी कर दिया गया।

इसे कु.लक्ष्मीनीधि पुलत्स्य व कु.सीमा ठाकुर ने अधिवक्ता जितेन्द्र पाली व शांतम अवस्थी के माध्यम से हाईकोर्ट में चुनौती दी है। हाईकोर्ट ने मामले की प्रारंभिक सुनवाई के बाद स्टाफ नर्स की भर्ती प्रक्रिया पर आगामी आदेश तक के लिए रोक लगा दी है। साथ ही नोटिस जारी कर राज्य शासन से जवाब-तलब किया है।

Next Story
Top