Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

CG Open Board Result 2018: ओपन स्कूल का रिकॉर्ड, पहली बार 22 दिनों में घोषित किए रिजल्ट

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा दसवीं-बारहवीं के परिणाम एक ही दिन जारी कर रिकॉर्ड बनाने के बाद छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल ने भी रिकार्ड बनाया है।

CG Open Board Result 2018: ओपन स्कूल का रिकॉर्ड, पहली बार 22 दिनों में घोषित किए रिजल्ट

माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा दसवीं-बारहवीं के परिणाम एक ही दिन जारी कर रिकॉर्ड बनाने के बाद छत्तीसगढ़ राज्य ओपन स्कूल ने भी रिकार्ड बनाया है।

ऐसा पहली बार हुआ है, जब परीक्षा समाप्त होने के 22 दिनों के भीतर ही परिणाम घोषित कर दिए गए हो। शनिवार शाम स्कूल शिक्षा मंत्री केदार कश्यप द्वारा माशिम के सभा कक्ष में परिणाम घोषित किए गए।

दसवीं कक्षा में प्रथम स्थान पर नवीन कुमार ठाकुर है। उन्हें 82.8 प्रतिशत अंक मिले। बारहवीं में 91 प्रतिशत के साथ अनंत राम पहले स्थान पर रहे। शिक्षा मंत्री ने दसवीं कक्षा के टॉपर को 10 हजार और बारहवीं कक्षा के टॉपर को 25 हजार देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ेंः CBSE 12th Result: सीबीएसई 12 वीं की परीक्षा में लड़कियां अव्वल, ऐसे चेक करें रिजल्ट

पहले प्रयास में ओपन स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण करने वाले को ही यह राशि दी जाएगी। छात्र अपने परिणाम ओपन स्कूल की आधिकारिक वेबसाइट में देख सकते हैं।

दसवीं के परिणाम में सुधार

इस वर्ष दसवीं कक्षा में 93,426 छात्र शामिल हुए थे। पिछले साल की तुलना में इस वर्ष 5.5 प्रतिशत अधिक छात्र दसवीं की परीक्षा में शामिल हुए। इस बार दसवीं कक्षा में 43,613 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं, जो कुल संख्या का 46.82 प्रतिशत है।

पिछले वर्ष आेपन के रिजल्ट 42 प्रतिशत रहे थे। इस वर्ष परीक्षा में बैठने वाले छात्रों के साथ ही पास होने वाले छात्रों की संख्या भी बढ़ी है।

यह भी पढ़ेंः CBSE 12th Result 2018: सीबीएसई ने 12वीं का रिजल्ट किया जारी, 83.01% छात्र हुए पास, गाजियाबाद की मेघना श्रीवास्तव बनी टॅापर

बारहवीं का परिणाम 52.82 प्रतिशत

दसवीं के साथ बारहवीं कक्षा के परिणाम में भी इस बार सुधार हुआ है। पिछले साल बारहवीं के परिणाम 46 प्रतिशत थे, जो इस वर्ष बढ़कर 52.82 प्रतिशत हो गए हैं। बारहवीं की परीक्षा में 87,159छात्र शामिल हुए थे। इनमें से 42018 छात्र उत्तीर्ण हुए हैं।

बारहवीं कक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होने वाले छात्रों की संख्या में वृद्धि हुई है। नकल प्रकरण रोकने के लिए इस वर्ष ओपन स्कूल द्वारा काफी प्रयास किए गए थे। दोनों कक्षाओं में नकल प्रकरणों की संख्या में कटौती हुई है।

पिछले वर्ष 12वीं कक्षा में 614 नकल प्रकरण बने थे, जबकि इस वर्ष केवल 546 नकल प्रकरण बने। वहीं दसवीं कक्षा में पिछले साल 349 नकल प्रकरण बने थे, जबकि इस वर्ष 268 नकल प्रकरण बने हैं।

Next Story
Top