logo
Breaking

CBSE: अब 9वीं से ही कॅरियर विकल्पों की मिलेगी जानकारी, सभी स्कूलों को निर्देश जारी

सीबीएसई छात्रों को अब नवमी कक्षा से ही कॅरियर के विकल्पों की जानकारी देगा, ताकि वे शुरूआत से ही कॅरियर और उसके विकल्प के बारे में जान सकें और अपनी योग्यतानुसार विषय का चुनाव कर सकेंगे

CBSE: अब 9वीं से ही कॅरियर विकल्पों की मिलेगी जानकारी, सभी स्कूलों को निर्देश जारी

सीबीएसई छात्रों को अब नवमी कक्षा से ही कॅरियर के विकल्पों की जानकारी देगा, ताकि वे शुरूआत से ही कॅरियर और उसके विकल्प के बारे में जान सकें और अपनी योग्यतानुसार विषय का चुनाव कर सकेंगे।

शैक्षणिक सत्र 2018-19 से इसकी शुरुआत की जाएगी। न केवल नवमी, बल्कि ग्यारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए भी कॅरियर के विकल्पों की जानकारी देने वाले पाठ्यक्रमों को सिलेबस में शामिल किया जाएगा।

यह भी पढेंः हायर एजुकेशन में सुधार के लिए बड़ा कदम उठाएगी मोदी सरकार, HEERA बिल का ड्राफ्ट तैयार

सीबीएसई ने 10वीं और 12वीं बोर्ड में कुल मिलाकर 45 वोकेशनल कोर्सों की सूची जारी की है। 10वीं में 15 और 12वीं बोर्ड में 40 वोकेशनल कोर्स उपलब्ध हैं। इस संबंध में सीबीएसई बोर्ड ने सभी एफिलिएटेड स्कूल प्रबंधन को निर्देश जारी किया है।

बोर्ड का निर्देश है कि बच्चे हर हाल में इनमें से किसी एक कोर्स में नामांकन लें। इसे इसी सत्र से लागू करना है। छात्रों को हेल्थ, ब्यूटी, ऑटोमोबाइल, कंप्यूटर, एग्रीकल्चर समेत विभिन्न विकल्प दिए गए हैं।

यह भी पढेंः दिल की बीमार की खोज, भारत की विजया ए स्टार टैलेन्ट सर्च अवार्ड से सिंगापुर में सम्मानित

छठे विषय के रूप में

10वीं बोर्ड की परीक्षा में छात्रों को वोकेशनल विषय का लाभ मिलेगा। वे इसे छठे विषय के रूप में रख सकते हैं। पांच विषयों में मुख्य विषय में किसी एक में फेल करने पर छात्र उसे छठे विषय के अंक से रिप्लेस करने पर विचार चल रहा है।

कोर्स के चयन को लेकर विद्यार्थियों को होने वाली दिक्कतों के कारण यह फैसला लिया गया है। बोर्ड का मानना है कि इससे छात्रों को कॅरियर, कोर्स और अन्य जानकारियां सही समय पर मिल पाएंगी।

इनपुट-भाषा

Share it
Top