Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

CBSE ने की बड़ी घोषणा, इन पाठ्यक्रमों में जल्द करेगी बदलाव

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड नवमी व ग्यारहवीं कक्षा में संचालित हो रहे व्यावसायिक पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी कर रहा है।

CBSE ने की बड़ी घोषणा, इन पाठ्यक्रमों में जल्द करेगी बदलाव

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड नवमी व ग्यारहवीं कक्षा में संचालित हो रहे व्यावसायिक पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी कर रहा है। ये बदलाव आगामी शैक्षणिक सत्र से ही लागू होंगे।

सीबीएसई के सर्कुलर के अनुसार इसके स्थान पर छात्रों को अन्य कोर्स के विकल्प दिए जाएंगे। सीबीएसई ने नोटिफिकेशन जारी कर स्कूलों को शैक्षणिक सत्र 2018-19 से इन विषयों का विकल्प देने कहा है।

इन विषयों को हटाए जाने के पीछे कम छात्र संख्या है। पिछले कई सालों से इन विषयों में गिनती के छात्र ही दाखिला ले रहे थे। सीबीएसई द्वारा व्यावसायिक पाठ्यक्रम इसलिए शुरू किया गया था, ताकि छात्रों को रोजगार प्राप्ति में सहायता मिले।

यह भी पढ़ेंः CBSE ने बदला पासिंग पैटर्न, 10वीं बोर्ड परीक्षा पास करना अब होगा आसान

बंद किए जा रहे विषय वर्तमान जॉब सेक्टर के लिहाज से भी अधिक उपयोगी नहीं हैं। इन सभी कारणों को देखते हुए इसे बंद करने का फैसला लिया गया है।

हटाए जाएंगे ये विषय

सीबीएसई ने अपने नोटिफिकेशन में पहले से ही इन विषय की पढ़ाई कर रहे छात्रों का विशेष ध्यान रखा है। बोर्ड ने कहा है, जो छात्र नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में पहले से ही इन विषयों की पढ़ाई कर रहे हैं, वह दसवीं और बारहवीं कक्षा में भी इन्हें जारी रख सकेंगे।

सीबीएसई बोर्ड ने जिन विषयों को हटाने का फैसला किया है, उनमें नौवीं कक्षा के इंग्लिश कम्यूनिकेशन, इंफर्मेशन एंड कम्यूनिकेशन टेक्नोलॉजी और ई-पब्लिशिंग एंड ई-ऑफिस और ग्यारहवीं कक्षा के डांस-मोहिनीअट्टम, मल्टीमीडिया एंड वेब टेक्नॉलोजी और इंग्लिश इलेक्टिव जैसे विषय शामिल हैं।

यह भी पढ़ेंः CBSE का फरमान: सभी योग्य छात्रों का मिलेगा प्रवेश पत्र

इनके विकल्प दिए जाने की तैयारी

सीबीएसई द्वारा इन विषयों को बंद करने के साथ ही कुछ नए सब्जेक्ट छात्रों को विकल्प के रूप में दिए जाएंगे। इसमें कृषि से संबंधित कुछ विषय शामिल किए जाने की तैयारी है।

हालांकि शुरू किए जाने वाले नए विषयों की आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। नए विषयों का चुनाव करते वक्त छात्रों की पसंद के साथ ही जॉब सेक्टर का भी ध्यान रखा जाएगा।

Next Story
Top