logo
Breaking

अब ऐसे होगी 10वीं की बोर्ड परीक्षा, CBSE ने बदला फॉर्मेट

20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के रूप में मिलेंगे उनमें से 10 अंकों के लिए नियमित अंतराल पर टेस्ट लिया जाएगा।

अब ऐसे होगी 10वीं की बोर्ड परीक्षा, CBSE ने बदला फॉर्मेट

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने शैक्षणिक सत्र 2017-18 के लिए 10वीं बोर्ड परीक्षा को बहाल करने का निर्णय लिया है। इसके तहत हर विषय का पेपर 80 अंकों का होगा और बाकी के 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन का प्रारूप तैयैर किया गया है। परीक्षा में पास होने के लिए 33 अंक अनिवार्य होंगे।

सीबीएसई के अधिकारी ने बताया कि "बोर्ड के संचालक निकाय की ओर से लिये गए फैसले के अनुरूप शैक्षणिक सत्र 2017-18 से दसवीं कक्षा के लिए परीक्षा की योजना एक और योजना दो को समाप्त किया जाता है।"
उन्होंने आगे बताया कि इस शैक्षणिक सत्र के लिए परीक्षा का परिवर्तित प्रारूप तैयार किया है और परीक्षा इसी आधार पर होगी। ये नया प्रारूप भाषा 1, भाषा 2, विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान विषय के लिए तैयार किया गया है।
जो 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के रूप में मिलेंगे उनमें से 10 अंकों के लिए नियमित अंतराल पर टेस्ट लिया जाएगा। इसके तहत 5 अंक अपनी नोटबुक जमा करने पर और पांच अंक विषय को उन्नत बनाने की गतिविधियों पर दिए जाएंगे।
बोर्ड परीक्षा के तहत सभी विषयों की लिखित परीक्षा ली जाएगी जो कि 80 अंकों की होगी। प्रत्येक विषय के लिए अंक और ग्रेड प्रदान किये जायेंगे. 9 प्वाइंट का ग्रेड वैसा ही होगा जो 12वीं बोर्ड में अपनाया जा रहा है। आंतरिक मूल्यांकन के लिेए गए टेस्ट में दो टेस्ट के अंकों को लिया जाएगा जो कि बेस्ट होंगे।
Share it
Top