logo
Breaking

CBSE ने पेपर में गड़बडी को रोकने के लिए उठाया बड़ा कदम, स्कूलों को भेजे जाएंगे ऑनलाइन प्रश्न पत्र

CBSE Board Exam 2019: सीबीएसई (CBSE) अब बोर्ड परीक्षाओं के पेपर लीक होने की समस्या से निपटने के लिए ऑनलाइन प्रश्नपत्र भेजने की शुरुआत करने जा रहा है।

CBSE ने पेपर में गड़बडी को रोकने के लिए उठाया बड़ा कदम, स्कूलों को भेजे जाएंगे ऑनलाइन प्रश्न पत्र

CBSE Board Exam 2019

सीबीएसई (CBSE) अब बोर्ड परीक्षाओं (Board Exam) के पेपर लीक होने की समस्या से निपटने के लिए ऑनलाइन प्रश्नपत्र (Online Question Paper) http://cbse.nic.in/ भेजने की शुरुआत करने जा रहा है।

इसका प्रयोग 2018-19 शैक्षणिक सत्र के कम संख्या वाले विषयों में प्रयोग के तौर पर अपनाया जाएगा। सहोदया ग्रुप के चेयरमेन सोजेन जोसेफ ने बताया कि 24 वें राष्ट्रीय सहोदया सम्मेलन के दौरान यह निर्णय लिया गया है। वहीं अगले सत्र से इसे अनिवार्य कर दिया जाएगा

UP Board: 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा के पैटर्न में हुआ बदलाव,CBSE की तर्ज पर होगा पेपर

बतादें कि 2018 की सीबीएसई बोर्ड परीक्षा (CBSE Board Exam) में इंटरमीडिएट में इकोनॉमिक्स का पेपर लीक हुआ था, जिससे सीख लेते हुए सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board) ने इसके लिए खास तैयारी की है। ऑनलाइन पेपर (Online Paper) निकालने के लिए सीबीएसई परीक्षा केंद्रों (CBSE Board Exam) को डिजिटल-की देने की तैयारी में है।

सोजेन जोसेफ ने बताया कि सम्मेलन में सीबीएसई (CBSE) की चेयरपर्सन अनीता करवाल ने कहा कि सीबीएसई के स्कूल (CBSE School) अपना बेस्ट नहीं दे रहे हैं। आगामी वर्ष से सीबीएसई एग्जामिनेशन रिफॉर्मस (CBSE Examination Reform) की दिशा में बड़े बदलाव करने जा रहा है, इसमें परीक्षा से लेकर असेसमेंट तक का तरीका बदलेगा।

शिक्षकों को दिया जाएगा प्रशिक्षण

अब सभी सीबीएसई स्कूल्स (CBSE School) के टीचर्स की बोर्ड द्वारा ट्रेनिंग कराई जाएगी, इसमें लाखों टीचर ऐसे हैं जो बीएड और बीटीसी की डिग्री तो ले आए हैं, लेकिन उनमें टीचिंग क्षमता में कमी है। बोर्ड ऐसे शिक्षकों (Teacher) की मैपिंग कर विशेष प्रशिक्षण देगा।

CBSE से 10वीं पास छात्रों के लिए सुनहरा मौका, स्कॉलरशिप से पढ़ना हुआ आसान, जानें पूरा नियम

सीबीएसई स्कूल को राज्य सरकार देगी एनओसी

सीबीएसई (CBSE) ने अपने बायलॉज में बदलाव किया हैं, अब सीबीएसई स्कूलों (CBSE School) के इंफ्रास्ट्रक्चर की जगह एकेडमिक पार्ट पर अधिक ध्यान देगा। स्कूल की मान्यता के समय सीबीएसई, स्कूल के इंफ्रास्ट्रक्चर को लेकर राज्य सरकार से जारी एनओसी के बाद, अलग से जांच नहीं कराएगा।

नही होगा सीबीएसई का पेपर आउट

सीबीएसई बोर्ड ने नए सत्र से डिजिटल पेपर स्क्ूलों में भेजने की योजना बनाई है, जिससे परीक्षा से पहले पेपर आउट होने की घटनाओं पर लगाम लगेगी।

Share it
Top