logo
Breaking

2018 से CBSE स्कूलों में 10th बोर्ड एग्‍जाम की वापसी पर मुहर

2018 से दसवीं के स्टूडेंट्स के लिए जरूरी होगें बोर्ड एग्जाम।

2018 से CBSE स्कूलों में 10th बोर्ड एग्‍जाम की वापसी पर मुहर
नई दिल्‍ली. स्कूलों में दसवीं क्‍लास में सात साल के अंतराल के बाद बोर्ड परीक्षाओं की वापसी होने वाली है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंड्री एजुकेशन (सीबीएसइ) ने बोर्ड एग्जाम को फिर से मंजूरी दे दी है। यानी अगले सेशन से दसवीं क्लास में पढ़ रहे स्टूडेंट्स को बोर्ड का एग्जाम देना होगा।
खबरों के मुताबिक, यह फैसला मंगलवार (20 दिसंबर) को लिया गया है। फैसला लेने वाली प्रमुख बॉडी, गवर्निंग बॉडी ने मंगलवार को बदलाव संबंधी फैसले पर मुहर लगा दी। हालांकि, इन बदलावों को 2017 की परीक्षा में लागू नहीं किया जाएगा। नए बदलाव वाली पहली परीक्षा मार्च 2018 में होगी।
गौरतलब है कि सीबीएसइ ने छह साल पहले दसवीं में बोर्ड की परीक्षा देने को वैकल्पिक कर दिया था। उस वक्त यानी 2009 में कॉन्टिन्‍यूअस ऐंड कॉम्प्रिहेंसिव इवैल्‍यूएशन (CCE) को लाया गया था। इसका यह मतलब था कि सीनियर सेकंडरी में पढ़ने वाले स्‍टूडेंट्स के पास एग्‍जाम में बैठने या नहीं बैठने का वि‍कल्‍प था।
टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, बोर्ड एग्जाम मार्च 2018 में होंगे। तय किया गया है कि 80 प्रतिशत नंबर बोर्ड के पेपर और 20 प्रतिशत इंटरनल एसेसमेंट के होंगे। मिली जानकारी के मुताबिक, सीबीएसइ की गवर्निंग बॉडी के सदस्यों ने एक सर्वे करवाया था। उसमें यह बात निकलकर सामने आई कि ज्यादातर लोग चाहते हैं कि दसवीं में बोर्ड की फिर से वापसी हो जाए।
सीबीएसइ के चेयरपर्सन आर.के. चतुर्वेदी ने कहा, 'गवर्निंग बॉडी के सदस्‍यों ने एकमत से इस बारे में फैसला किया। इस मुद्दे के हर पहलुओं पर चर्चा की गई जिसके बाद सैद्धांतिक तौर पर सहमति बनी कि सीसीई पीरियड से पहले के एग्‍जाम पैटर्न को फिर से लागू किया जाए। 2018 से एग्‍जाम की शुरुआत की जाएगी और एक सर्कुलर के जरिए स्‍कूलों को जल्‍द ही इस बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी।'
इससे पहले केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी कहा था कि सीबीएसइ स्कूलों में दसवीं की बोर्ड परीक्षा 2017-18 से फिर से शुरू की जाएगी। फिलहाल जो स्टूडेंट दसवीं क्लास में पढ़ रहे हैं उनपर इस फैसले का कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। वह उसी फॉर्मेट में एग्जाम देते रहेंगे जिसमें पिछले छह सालों से हो रहे थे।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को
फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top