Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

TIPS: 12वी के बाद ऐसे चुने इंट्रेस्ट वाले सब्जेक्ट

स्टूडेंट्स जुटे करियर प्लानिंग में, ले रहे काउंसलर की सलाह, सर्च कर रहे बेस्ट एजुकेशन इंस्टीट्यूट

TIPS: 12वी के बाद ऐसे चुने इंट्रेस्ट वाले सब्जेक्ट

आने वाली 1 जून से स्कूल व कॉलेजों में प्रवेश प्रारंभ हो जाएगा। ऐसे में सब्जेक्ट सलेक्शन व बेहतर शिक्षण संस्थान के चुनाव को लेकर स्टूडेंट्स व उनके पैरेंट्स काफी फिक्रमंद हो गए हैं। करियर प्लानिंग काे लेकर कहीं काेई चूक न हो जाए, इसके लिए करियर काउंसलर का सहारा लिया जा रहा है कि कौन सा सब्जेक्ट व किस तरह के शिक्षण संस्थान में प्रवेश लेना सुनहरे भविष्य की ओर ले जाएगा।

स्टूडेंट्स अपने फ्यूचर को लेकर संजिदा है आैर प्री-करियर प्लानिंग में लग गए हैं। इसके लिए काउंसलर व इंटरनेट पर वोकेशनल कार्स के अलावा प्रोफेशन कार्स कराने वाले बेस्ट से बेस्ट एजुकेशन इंस्टीट्यूट सर्च करने में लगे हुए हैं। शहर के स्कूल-कॉलेज कौन-कौन से कोर्स कर रहे हैं, कहा कितनी सीट बढ़ रही है। स्टूडेेंट्स अपने करियर को लेकर क्या तरकीब अपना रहे हैं।

प्रोफेशन कोर्स काे लेकर क्रेजी स्टूडेंट्स

10-12वीं के बाद स्टूडेंट्स बीएससी बायो-मैथ्स के अलावा प्रोफेशन कार्स में कला-संगीत, योग शिक्षा, इंटीरियर डिजाइनिंग व फैशन डिजाइनिंग, हॉटल व मेडिकल मैनेजमेंट, सेल्फ डिपेंडेंट्स, बीबीए, बीसीए, बीटीएम, बीएएलएलबी, बीकॉम, एलएलबी, एलएलएम, जर्नलिज्म, कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी, पॉलीटेक्निक, बीटीई, आर्किटेक्चर असिस्टेंटशिप, केमिकल इंजीनियरिंग, आटो मोबाइल इंजीनियरिंग, इंफारर्मेशन टेक्नाॅलॉजी, फैशन डिजाइनिंग, प्लास्टिक टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में अपना करियर बनाने को लेकर खासे उत्साहित नजर आ रहे हैं।

ब्रेन मैपिंग व करियर काउंसिलिंग का ले रहे सहारा

स्टूडेंट्स मैथ्स, बायो, रसायन, भौतिकी, आर्ट, कॉमर्स या दूसरे प्रोफेशनल कोर्स को करियर के रूप में चुनाव करने से पहले अपना ब्रेन मैंपिंग करा रहे हैं। ब्रेन मैंपिंग से छात्र अपना आईक्यू , ईक्यू, स्ट्रेंथ को जान रहे हैं। उसी के हिसाब से विषय का चुनाव कर करियर प्लानिंग को लेकर आइडियाज ले रहे हैं।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ

शिक्षाविद श्याम वर्मा के मुताबिक, 10वीं के बाद किसी भी सब्जेक्ट का चुनाव करते वक्त स्टूडेंट्स को इस बात काे सोच लेना चाहिए कि वह आगे किस सबजेक्ट में ग्रेजुएशन करने वाला है। उस सब्जेक्ट को लेकर उनका पढ़ने का मोटिव क्या है। मैथ्स, बायो के अलाव सीए, फार्मासिस्ट, होटल मैनेजमेंट आदि कई कोर्स है, जिसे छात्र-छात्राएं चुन सकते हैं। विषय में रुचि और परफार्मेंस के अलावा काउंसलर से सलाह लेना सबसे बेहतर विकल्प है।

स्किल वाले कोर्स को चुने

करियर काउंसलर शैलेेंद्र सिंह के मुताबिक, मैथ्स, बायो ,कामर्स और आर्ट ही अधिकतर स्टूडेंट्स का पहली च्वाइस है। बात करें दूसरे प्रोफशन कोर्स की, तो इनके प्रति स्टूडेंट्स में बहुंत कम रुझान है या इसके बारे वो जानते नहीं। 10वीं के बाद स्टूडेंट्स को स्कोप वाले कोर्स के मुकाबले स्किल वाले कोर्स चुनने चाहिए। यह स्किल वाले कोर्स में टेक्नोलॉजी, रिसर्च, डिफेंस, जर्नलिज्म और भाषा विज्ञान, अर्थशास्त्र से जुड़े कोर्स सेफ्टी करियर के लिए काफी बेहतर है। अगर फिर भी कोई कंफ्यूजन है, तो करियर काउंसलर से मिलकर डाउट को दूर करना चाहिए।

Next Story
Share it
Top