Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

डेंटिस्ट की फील्ड में बनाएं अपना सफल भविष्य, सिर्फ करना होगा ''बीडीएस'' कोर्स

आज के समय में दंत चिकित्सक की मांग लगातार बढ़ रही है। चिकित्सा क्षेत्र में रूचि रखने वाले युवाओं के लिए मेडिकल साइंस में एक से बढ़कर एक मौके है।

डेंटिस्ट की फील्ड में बनाएं अपना सफल भविष्य, सिर्फ करना होगा

आज के समय में दंत चिकित्सक की मांग लगातार बढ़ रही है। चिकित्सा क्षेत्र में रूचि रखने वाले युवाओं के लिए मेडिकल साइंस में एक से बढ़कर एक मौके है।

यदि आपने 12वीं पास कर ली है और आप दंत चिकित्सक बनना चाहते हैं तो आज के समय में आपके लिए इस क्षेत्र में करियर के बहुत मौके है। इस के लिए आप बीडीएस का कोर्स कर सकते हैं।

ये है CSIR UGC NET परीक्षा का रिजल्ट चेक करने का Direct Link

सवाल- मैं हाईस्कूल में हूं। दांतों का डॉक्टर बनना चाहता हूं। इसके लिए कौन-सी पढ़ाई करनी होती है? यह कोर्स कहां से किया जा सकता है? कृपया मार्गदर्शन करें। -गौरव, चंडीगढ़

जवाब- दांतों का आधिकारिक डॉक्टर बनने के लिए बीडीएस यानी बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी कोर्स करना होता है। बीडीएस कोर्स में प्रवेश के लिए अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा, एमबीबीएस की प्रवेश परीक्षा के साथ होती है, जिसका संयुक्त नाम एनईईटी (नेशनल एलिजिबिलिटी एंड एंट्रेंस एग्जाम) है। अभी तक इसे सीबीएसई आयोजित करती थी, लेकिन अगले साल (यानी 2019) से यह परीक्षा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) आयोजित करेगी। इस परीक्षा में शामिल होने के लिए फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और अंग्रेजी विषयों के साथ कम से कम 50 प्रतिशत अंकों से बारहवीं पास होना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए एनटीए की वेबसाइट https://www.nta.ac.in का अवलोकन करें।

सवाल- मैंने कंप्यूटर साइंस में एमटेक किया है, अब पीएचडी करना चाहता हूं। समझ में नहीं आ रहा है कि इसके किस ब्रांच में और किस यूनिवर्सिटी से पीएचडी करना अच्छा रहेगा? -रचित

जवाब- पीएचडी के लिए दो पहलुओं पर खास तौर से गौर करना चाहिए। पहला, कंप्यूटर साइंस के किस खास क्षेत्र में आपकी रुचि सबसे ज्यादा है, उसे जानें। दूसरा, वह तकनीक जिसके भविष्य में तेजी से उभरने की उम्मीद है (जैसे- आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, ब्लॉक चेन, इंटरनेट ऑफ थिंग्स आदि)। जहां तक संस्थान की बात है, तो इसके लिए वही संस्थान अधिक उपयुक्त होगा, जहां इनोवेशन और नई तकनीकों पर रिसर्च को बढ़ावा देने का सतत प्रयास किया जाता है।

अगर आप भी बनना चाहते हैं चार्टर्ड अकाउंट, तो इन स्टेप्स को फॉलो कर करें तैयारी, जानें पूरा प्रोसेस

सवाल- मैं हिंदी से एमए कर रहा हूं। मैंने सुना है कि विदेश में हिंदी टीचर्स की काफी मांग रहती है। इसके लिए क्या करना होता है? क्या पहले पीएचडी करना होगा? -यादवेंद्र बघेल, बस्तर

जवाब- विदेश में जॉब, भले ही वह हिंदी टीचर के लिए ही क्यों न हो, आपको हिंदी में उच्चतम योग्यता हासिल करने के साथ-साथ अंग्रेजी में भी पूरी तरह से सक्षम होना होगा। इसका कारण यह है कि ज्यादातर देशों में आवेदन के लिए सबसे पहले टोफेल या आईएलटीएस जैसे लैंग्वेज टेस्ट क्वालिफाई करना अनिवार्य होता है। अंग्रेजी ज्यादातर देशों में संपर्क भाषा के रूप में काम आती है। अगर आप पीएचडी कर लेते हैं, तो इससे आपकी दावेदारी और मजबूत हो सकती है।

सवाल- मैं इंटर पीसीएम से कर रहा हूं। रेलवे में जॉब करना चाहता हूं। ट्रेन ड्राइवर बनने के लिए क्या करना होता है? कृपया बताएं। जयदीप सिंह

जवाब- कटनी रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (आरआरबी) द्वारा ट्रेन ड्राइवर की नियुक्ति असिस्टेंट लोको पॉयलट (एएलपी) के रूप में की जाती है। इसके लिए इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल या डीजल मैकेनिक ग्रेड से आईटीआई या इलेक्ट्रिकल या मैकेनिकल ब्रांच से डिप्लोमा होना चाहिए। भारतीय रेलवे में आरआरबी के जरिए नियमित रूप से ट्रेन ड्राइवर की भर्ती परीक्षा होती रहती है। आप उक्त कोर्स करके निकलने वाली वैकेंसीज के लिएअप्लाई कर सकते हैं।

Next Story
Share it
Top