Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

NEET Exam 2018: इन टॉपिक्स पर करें फोकस, टुकड़ों में बांटकर पढ़ें पूरा सिलेबस

इसमें अच्छे रैंक लाने के लिए जरूरी है कि एक रणनीति बनाकर अभी से काम करें।

NEET Exam 2018: इन टॉपिक्स पर करें फोकस, टुकड़ों में बांटकर पढ़ें पूरा सिलेबस

मेडिकल संस्थानों में प्रवेश के लिए होने वाले नीट के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं। मई में होने वाली इस परीक्षा के लिए अभी से टाइम-टेबल बनाकर पढ़ना आपको सफलता दिलाएगा।

नीट राष्ट्रीय स्तर पर होती है। ऐसे में इसमें अच्छे रैंक लाने के लिए जरूरी है कि एक रणनीति बनाकर अभी से काम करें। कॅरियर काउंसर वर्षा वरवंडकर बता रही हैं नीट की तैयारियों के टिप्स।

इसे भी पढ़ें- राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान: आज से 10वीं के 10 लाख स्टूडेंट्स का होगा 'इंटरेस्ट टेस्ट'

टॉपिक्स क्लीयर हो -

तैयारी से पहले अपने सिलेबस की जानकारी लें और इसमें हर विषय के आधार पर टॉपिक्स की जानकारी ले लें। इन टॉपिक्स या विषय के आधार पर उन्हें टुकड़ों में बांट लें और पढ़ाई के लिए एक लाइब्रेरी तैयार करें। इसमें उन किताबों को शामिल करें जिनके जरिए आपको परीक्षा की तैयारी करनी है।

विस्तृत अध्ययन करें-

चुंकि अभी परीक्षा में वक्त है, इसलिए आपको सलेक्टिव स्टडी से बचना चाहिए। सबसे पहले आपको हर टॉपिक का विस्तृत अध्ययन करना चाहिए। चयनित टॉपिक या पिछले सालों के प्रश्न पत्रों के आधार पर कोई सफलता नहीं मिलती।

तेजी लाने का प्रयास

तैयारियों के वक्त से ही यदि आप टाइम मैनेजमेंट का ध्यान रखेंगे तो परीक्षा के वक्त दिक्कत नहीं होगी। प्रश्न हल करने में तेजी लाने का अभ्यास करें, ताकि आपके पास अपने प्रश्न हल करने और उन्हें दोहराने का पूरा समय हो। इससे आप सवाल के आधार पर टाइम व्यतीत करना सीख सकते हैं।

किताबों का ढेर न लगाएं

उन किताबों का ही चयन करें, जिनसे आपको पढ़ाई करनी है। अन्य किताबें अपनी लाइब्रेरी से हटा दें। एग्‍जाम के पहले ज्‍यादातर स्‍टूडेंट्स की आदत होती है कि वो तैयारी के लिए अलग-अलग किताबें पढ़ते हैं।

लेकिन नीट की तैयारी करने वाले स्‍टूडेंट्स को इस बात का ध्‍यान रखना चाहिए कि ज्‍यादा तरह की किताबों को पढ़ने से दिमाग भटकता है और आप कंसन्ट्रेट नहीं कर पाते हैं।

काॅन्सेप्ट क्लियर रखें

यदि किसी पाठ्यक्रम में या किसी मैथेड में आपको कोई दुविधा हो तो उसे वक्त रहते क्लीयर कर लें। परीक्षा के वक्त के लिए इस तरह की चीजें न छोड़ें। ये अापके लिए हानिकारक हो सकता है।

अगर आपको किसी सवाल के जवाब के दो ऑप्‍शन में कंफ्यूजन हो तो उसका जवाब देने से बचें। यह आपके लिए रिस्‍की हो सकता है। यदि वह अध्याय परीक्षा के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण हो तो उसे वक्त रहते क्लीयर कर लें।

Next Story
Top