Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

करियर एडवाइस : सरकारी-निजी दोनों क्षेत्रों में सिविल इंजीनियर्स की है डिमांड

आज के समय में सिविल इंजीनियरों की सरकारी और निजी क्षेत्रों में काफी मांग होती है। निजी क्षेत्र की कंपनियों, हाउसिंग कंपनियों द्वारा भी बड़े पैमाने पर सीधी भर्ती द्वारा जेई की नियुक्ति की जाती है।

करियर एडवाइस : सरकारी-निजी दोनों क्षेत्रों में सिविल इंजीनियर्स की है डिमांड
X
सिविल इंजीनियर

मैं सिविल इंजीनियरिंग से डिप्लोमा कर रहा हूं। इसके बाद मुझे कहां और किस तरह की जॉब मिल सकती है?

-पुखराज सिंह, दुर्ग

इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े निर्माण कार्यों में सिविल इंजीनियरों की काफी मांग होती है, चाहे वह सरकारी क्षेत्र हो या निजी। जहां तक सरकारी क्षेत्र की बात है, आप डिप्लोमा के बाद रेलवे, सीपीडब्ल्यूडी, राज्य पीडब्ल्यूडी आदि द्वारा जूनियर इंजीनियर (जेई) पदों के लिए निकाली जानी वाली रिक्तियों के जवाब में आवेदन कर सकते हैं। अगर आप संबंधित परीक्षा और साक्षात्कार उत्तीर्ण कर लेते हैं, तो आपको नियुक्ति मिल सकती है। निजी क्षेत्र की कंपनियों, हाउसिंग कंपनियों द्वारा भी बड़े पैमाने पर सीधी भर्ती द्वारा जेई की नियुक्ति की जाती है। इसमें भी व्यापक संभावनाएं हैं। इसके लिए आप इन कंपनियों की वेबसाइट पर अपना रेज्यूमे सीधे अपलोड कर सकते हैं।

मैं बीए करने के बाद सरकारी वकील बनना चाहता हूं। इसके लिए क्या करना होगा?

-नवीन कुमार, जांजगीरचांपा

सरकारी वकील बनने की दिशा में कदम बढ़ाने के लिए आपको बीए के बाद तीन साल का एलएलबी (बैचलर ऑफ लॉ) करना होगा। सरकारी वकील को कई राज्यों में अभियोजन अधिकारी (प्रॉजिक्यूटिंग ऑफिसर) कहते हैं। राज्यों के लोक सेवा आयोग द्वारा सहायक अभियोजन अधिकारी (एपीओ) के रूप में भर्ती करने के लिए प्रतियोगिता परीक्षा आयोजित की जाती है। एलएलबी के आधार पर आप इस परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। एक दूसरा विकल्प भी है, जिसके तहत वरिष्ठ वकीलों को उनकी नॉलेज, अनुभव और अच्छे ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर सरकारी वकील के रूप में नामांकित किया जाता है। हालांकि इसके लिए बार काउंसिल में पंजीकरण कराने के बाद वकील के रूप में लंबी अवधि तक प्रैक्टिस करने के अनुभव की जरूरत होती है।

मैं जेईई की तैयारी कर रहा हूं। अब समय कम बचा है। सेलेक्ट होने के लिए कैसे तैयारी करूं?

-निरंजन, ईमेल से

सबसे पहले मैं एक सवाल आपसे करना चाहता हूं। अगर जेईई पूर्व निर्धारित समय पर होता, तो क्या होता? अब जबकि करीब दो महीने से ज्यादा का समय इस परीक्षा की तैयारी के लिए आप सभी को मिल गया है, तो यह सभी के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है। इसका भरपूर सदुपयोग करना चाहिए। हां, जहां तक जेईई में अपनी सफलता सुनिश्चित कराने की बात है, तो आपको इसके लिए अपनी ताकत और कमजोरियों को ध्यान में रखते हुए ठोस रणनीति बनानी चाहिए। इसके तहत नियमित रूप से लगन से पढ़ाई और मॉक पेपर्स को सॉल्व करने की प्रैक्टिस करनी चाहिए। जिन खंडों/विषयों में खुद को कमजोर महसूस करते हैं, उनसे डरने या दूर भागने की बजाय अपने मन को दृढ़ करके उसे अपनी ताकत बनाने का प्रयास करें। इसके अलावा, जेईई के पिछले कुछ वर्षों के प्रश्नों पर अच्छी तरह गौर करते हुए ट्रेंड को समझने का प्रयास करें। इससे आपको पता चल सकेगा कि किस खंड से कितने और किस तरह के सवाल पूछे जाते हैं। इससे अपनी तैयारी को सही दिशा देने में मदद मिलेगी।

मुझे घूमने-फिरने का शौक है। ट्रैवल इंडस्ट्री मं् करियर बनाने के लिए मुझे क्या करना चाहिए?

-अविनाश, अंबाला

ट्रैवल इंडस्ट्री में करियर बनाने के लिए आपको किसी विश्वविद्यालय या प्रतिष्ठित मान्यता प्राप्त संस्थान से टूर एंड ट्रैवल में कम से कम डिग्री कोर्स कर लेना चाहिए। अगर आप ग्रेजुएशन किसी और स्ट्रीम से कर चुके हैं, तो टूर एंड ट्रैवल में एमबीए या पीजीडीएम करके इस दिशा में कदम बढ़ा सकते हैं। इसके आधार पर आपको केंद्र/राज्य के पर्यटन विभागों सहित देश/विदेश की नामी टूर/ट्रैवल कंपनियों में अच्छे पैकेज पर जॉब मिल सकती है।

और पढ़ें
Next Story