Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

नए ''प्रोडक्ट'' लॉन्च के लिए अपनाएं फ्री टिप्स

किसी भी नए प्रोडक्ट को मार्किट में उतारने से पहले मार्केट रिसर्च डेटा की मदद लेंगे तो मिलेगा लाभ।

नए

बिजनेस कोई भी हो, इन दिनों जबर्दस्त कॉम्पिटिशन का सामना करना पड़ता है। ऐसे में कोई नया प्रोडक्ट लॉन्च करने या किसी नए एरिया में कंपनी प्रोडक्ट की एंट्री से पहले मार्केट और कंज्यूमर्स के नेचर और डिमांड का पता लगाने के लिए मार्केट रिसर्च एनालिस्ट की बड़ी भूमिका होती है। आने वाले समय में इस फील्ड के एक्सपर्ट्स की भरपूर डिमांड रहने की उम्मीद है। इस बारे में डिटेल में जानिए।

बाजार में अपनी कंपनी की साख बनाए रखना और अपने ग्राहकों की पसंद और नापसंद को समझने के साथ ही विभिन्न मार्केटिंग कॉम्पिटिशन पर नजर रखना, वर्तमान समय में कंपनियों और संस्थाओं के लिए जरूरी हो गया है। इसी के चलते वर्तमान में मार्केटिंग पेशेवर स्ट्रेटजिक डिसीजन का एक महत्वपूर्ण अंग बन गए हैं। उपभोक्ताओं की पहचान करना तथा उनकी जरूरतें पूरी करना इनका अहम काम हो गया है। आईए जानते हैं करियर एक्सपर्ट एजुकेशनिस्ट डॉ. जयंतीलाल भंडारी से....

बढ़ रही है डिमांड

मार्केट रिसर्च डेटा के माध्यम से मार्केटिंग पेशेवर अलग-अलग मार्केटिंग पैमानों जैसे सेवाओं, मूल्य, प्रमोशन और डिस्ट्रिब्यूशन को कंज्यूमर्स के साथ जोड़ पाते हैं। मार्केटिंग रिसर्च टीम की सहायता के बिना इन कार्यों को पूरा नहीं किया जा सकता है। अब तो किसी भी कंपनी की सफलता और असफलता मार्केटिंग रिसर्च पर ही काफी निर्भर करने लगी है।

किसी भी कंपनी को अपना उत्पाद बाजार में प्रस्तुत करना हो या पुराने उत्पाद में सुधार करना हो तो उन्हें कंज्यूमर्स के फीडबैक/ प्रतिक्रियाओं की जरूरत होती है। इन प्रतिक्रियाओं को प्राप्त करने का काम ब्रांड मैनेजर, मार्केट रिसर्च एनालिस्ट को देता है। मार्केट रिसर्च एनालिस्ट आँकड़ों के आधार पर अपनी जो रिपोर्ट प्रस्तुत करता है, उसी के आधार पर कंपनी अपने उत्पाद को बाजार में उतारती है।

चूंकि वर्तमन समय में हमारे देश का बाजार कंज्यूमर्स का विशाल बाजार बन गया है, इसलिए खरीदारों की पसंद और नापसंद की समझ और विश्लेषण बहुत जरूरी हो जाता है। भारतीय बाजार में बढ़ती प्रतिस्पर्धा को देखते हुए कंपनियों के लिए भी यह आवश्यक हो गया है कि वे विश्लेषित डेटा से इकट्ठी की गई ठोस, सही तथा मजबूत सूचनाओं पर आधारित अपने उत्पाद बाजार में प्रस्तुत करें।

नेचर ऑफ वर्क

भूमंडलीकरण के वर्तमान समय में मार्केट रिसर्च एनालिसिस एक जरूरी टूल बन गया है। माना कि कोई प्रोडक्ट सिर्फ एक प्रदेश विशेष की मार्केट तक सीमित है और उसे दूसरे प्रदेश में भी लॉन्च करना हो तो मार्केट रिसर्च एनालिस्ट की आवश्यकता पड़ेगी। मार्केट रिसर्च एनालिस्ट किसी उत्पाद या सेवा की बिक्री क्षमता को पहचानने के लिए स्थानीय, क्षेत्रीय और राष्ट्रीय मार्केट की स्थितियों का गहन परीक्षण करता है।

वह कंपनियों की यह समझने में मदद करता है कि लोगों को किस प्रकार का उत्पाद चाहिए और उस उत्पाद को कौन से लोग किस कीमत पर खरीदेंगे। ग्राहकों को क्या चाहिए, इसे सुनिश्चित करने में सर्वे एक बहुत बड़ा हिस्सा होते हैं। मार्केट रिसर्च एनालिस्ट इन्हीं सर्वे को डेवलप करते हैं, साथ ही सर्वे पूरा करना और उनका डिस्ट्रिब्यूशन भी इन्हीं के जिम्मे होता है।

एक्सट्रा स्किल्स

अगर आप मार्केट रिसर्च एनालिस्ट के तौर पर अपना चमकीला करियर बनाना चाहते हैं तो उसके लिए जरूरी स्किल्स, योग्यता और जॉब प्रोफाइल के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त की जाना जरूरी है। मार्केट रिसर्च एनालिसिस के लिए बेहतरीन संवाद-कौशल तथा डेटा विश्लेषण की जरूरत पड़ती है। इस क्षेत्र में करियर बनाने की इच्छा रखने वाले युवाओं को सही सूचनाएं एकत्रित कर क्लाइंट के सामने प्रस्तुत करने का हुनर आना चाहिए।

इसके लिए काम से जुड़े दस्तावेजों को पढ़ना, दूसरों को ध्यान से सुनना, उनकी जरूरतों को बेहतर ढंग से प्रस्तुत करने के अलावा प्रॉब्लम सॉल्विंग की कुशलता, कॉआॅर्डिनेशन, समय प्रबंधन, मैथेमेटिक्स और नेगोशिएशन जैसी अनेक योग्यताएं इस पेशे के लिए बहुत जरूरी हैं। सांख्यिकी विश्लेषण सॉफ्टवेयर्स की जानकारी के साथ ही एक्सयूएल डेटाबेस, डेटा माइनिंग, डेटा विजुअलाइजेशन तथा सर्वे और क्वेरी सॉफ्टवेयर आदि का ज्ञान भी बहुत जरूरी है।

एंट्री प्रोसेस

अगर आप मार्केट रिसर्च एनालिस्ट बनना चाहते हैं तो आपके पास मार्केटिंग रिसर्च /मार्केटिंग या संबंधित विषय जैसे स्टेटिस्टिक्स या मैथ्स में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए। आपके कोर्स में बिजनेस, मार्केटिंग, स्टेटिस्टिक्स, मैथेमेटिक्स या सर्वे डिजाइन अवश्य शामिल होना चाहिए। बेहतरीन डेटा की मांग के चलते अब एंप्लॉयर्स भी तकनीकी विशेषज्ञता को काफी प्राथमिकता देने लगे हैं।

यही कारण है कि कुछ खास स्पेशलिस्ट जॉब्स या मैनेजमेंट पदों के लिए मास्टर डिग्री की आवश्यकता होती है। अंडरग्रेजुएट कोर्स के तौर पर बैचलर इन बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (बीबीए) और पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स के तौर पर संबंधित स्पेशलाइजेशन के साथ मास्टर इन बिजनेस मैनेजमेंट (एमबीए) कोर्स कर सकते हैं। स्पेशलाइज्ड ट्रेनिंग कोर्स के लिए मास्टर आॅफ मार्केटिंग रिसर्च भी एक अच्छा विकल्प है।

जॉब्स ऑप्शन

इस क्षेत्र में रोजगार की बेहतरीन संभावनाएं हैं। नवीनतम अध्ययन रिपोर्टों में बताया जा रहा है कि यह क्षेत्र 2022 तक 30 से 35 प्रतिशत की रफ्तार से बढ़ेगा। मार्केट रिसर्च एनालिस्ट की उपलब्धियां, वेतन और पद की नजर से किसी भी दूसरी इंडस्ट्री के पेशेवरों की तुलना में कम नहीं हैं। प्राइवेट या पब्लिक सेक्टर के मैन्युफेक्चरर, मार्केट रिसर्च संस्थान या विज्ञापन एजेंसियां सभी इस क्षेत्र के उम्दा टैलेंट को अपने यहां रखना चाहती हैं। ज्यादातर ग्रेजुएट्स ट्रेनी स्तर के पदों जैसे कोडर्स और टेबुलेटर्स के तौर पर करियर की शुरुआत करते हैं। इसके बाद अनुभव होने पर उन्हें मार्केट रिसर्च एनालिस्ट के पद पर नियुक्त किया जाता है।

प्रमुख संस्थान -

-आईआईएम, अहमदाबाद

वेबसाइट- www.iima.ac.in

-आईआईएम, बैंगलुरू

वेबसाइट- www.iimb.ermet.in

-आईआईएम, लखनऊ

वेबसाइट- www.iiml.ac.in

-प्रेक्सिस बिजनेस स्कूल, कोलकाता

वेबसाइट- www.praxis.ac.in

-रूस्तमजी बिजनेस स्कूल, मुंबई

वेबसाइट- rbs.rustamjee.com

Next Story
Top