Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

हरियाणा के रोहतक में भीषण हत्याकांड : जाट कॉलेज के अखाड़े में पति-पत्नी समेत पांच लोगों को गोलियों से भूना

गोली कांड के पीछे आपसी रंजिश बताई जा रही है। यह कोचों के बीच का झगड़ा है और हमलावर भी खुद भी कोच है।

हरियाणा के रोहतक में भीषण हत्याकांड : जाट कॉलेज के अखाड़े में पति-पत्नी समेत पांच लोगों को गोलियों से भूना
X

रोहतक। रोहतक के जाट कॉलेज के अखाड़े में शुक्रवार को दिल दहला देने वाला हत्याकांड हुआ। यहां कॉलेज के डीपी और उनकी पत्नी समेत पांच पहलवानों को गोलियों से भून डाला। गोली लगने से डीपी का तीन वर्षीय बेटा और एक अन्य कोच घायल हुए हैं। उन्हें ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया है। वारदात शाम करीब 7 बजे की है। हत्याकांड का आरोप इसी अखाड़े के ही एक कोच पर लगा है। आरोप है कि कोच ने पुराने विवाद के चलते हत्या को अंजाम दिया है। एक साथ पांच मर्डर होने से पुलिस के हाथ-पैर फूले हुए हैं। आरोपी कोच सोनीपत के बरौदा का रहने वाला है और उसकी तलाश में छापेमारी की जा रही है। समाचार लिखे जाने तक यह स्पष्ट नहीं हुआ था कि हत्या की वारदात को किस कारण से अंजाम दिया गया। इस बारे में पुलिस भी कुछ बोलने से फिलहाल कतरा रही है।

अब तक मिली जानकारी के अनुसार मनोज मलिक जाट कॉलेज में रेसलिंग के कोच थे। कॉलेज ऑडिटोरियम के पीछे ही एक अखाड़ा भी है, जिसे मनोज चलाते थे। मनोज अपनी पत्नी साक्षी और ढाई साल के बच्चे सरताज समेत अखाड़े में ऊपर बने कमरे में ही रहते थे। इसी अखाड़े में एक कोच सुखविंद्र भी हैं जो नीचे बने कमरे में रहता था। सुखविंद्र सोनीपत के बरौदा का रहने वाला है और मनोज से पहले यह अखाड़ा चलाता था। बताया जा रहा है कि मनोज और सुखविंद्र के बीच काफी दिनों से झगड़ा चल रहा था। कई दिनों से दोनों के बीच कहासुनी भी चल रही थी। शुक्रवार शाम को भी इसी पुराने विवाद को लेकर मनोज और सुखविंद्र में कहासुनी हुई। पुलिस की मानें तो शाम करीब 7 बजे कोच सुखविंद्र ऊपर बने अखाड़े के कमरे में गया। आरोप है कि उसने मनोज मलिक उसकी पत्नी साक्षी और तीन साल के बेटे सरताज को गोली मार दी।

मनोज और साक्षी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया जबकि बच्चा घायल है। इसके बाद आरोपित ने कमरा बंद कर दिया और वहां से भागने की कोशिश करने लगा। गोली की आवाज सुनकर नीचे प्रैक्टिस कर रहे अन्य पहलवान ऊपर भागे और सुखविंद्र को पकड़ने की कोशिश की। आरोप है कि इसी दौरान सुखविंद्र ने एक अन्य कोच सतीश दलाल, यहां प्रैक्टिस करने वाली मथूरा की पहलवान पूजा, प्रदीप मालिक मोखरा और अमरजीत पर भी अंधाधुंध फायरिंग कर दी। वारदात के बाद आरोपी वहां से फरार हो गया। आसपास के लोगों ने सभी घायलों को पास के ही एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहुंची तो निजी अस्पताल में एक की मौत हो चुकी थी। इसके बाद सभी घायलों को पीजीआई के ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया। यहां दो पहलवानों की और मौत हो गई। कोच अमरजीत और मनोज के बेटे सरताज का इलाज चल रहा है।


अखाड़ों पर पहरा

आसपास के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस बल के साथ एसपी राहुल शर्मा मौके पर पहुंचे। आरोपी सुखविंद्र की तलाश में छापेमारी की जा रही है। उसके घर बरौदा में भी पुलिस के जवान लगा दिए गए हैं। घटना के बाद पुलिस ने वहीं देव कॉलोनी समेत अन्य अखाड़ों पर भी पहरा लगा दिया है।

पुलिस जांच कर रही

पुलिस जांच कर रही है। हत्याकांड के कारणों का भी पता लगाया जा रहा है। अभी कुछ स्पष्ट नहीं कह सकते। आरोपित कोच की तलाश में छापेमारी की जा रही है। सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए सभी जगहों पर पुलिस का पहरा लगा दिया गया है। जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। -राहुल शर्मा, पुलिस अधीक्षक, रोहतक।


Next Story