Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Chamki Fever: जानें क्या है चमकी बुखार

ऐसी कई बीमारीयां हैं जो फैलना शुरू होती हैं तो कई जानों को अपने चपेट में ले लेती हैं। ऐसी ही एक बीमारी है चमकी बुखार जो पिछले एक महीने से बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में अपना कहर बरपा रहा है। इस बुखार ने अब तक 50 से ज्यादा मासूमों की जान ले ली है।

Chamki Fever: जानें क्या है चमकी बुखार

ऐसी कई बीमारीयां हैं जो फैलना शुरू होती हैं तो कईं जानों को अपने चपेट में ले लेती हैं। ऐसी ही एक बीमारी है चमकी बुखार(Chamki bukhar) जो पिछले एक महीने से बिहार(Bihar) के मुजफ्फरपुर(Muzaffarpur) जिले में अपना कहर बरपा रहा है। इस बुखार ने अब तक 50 से ज्यादा मासूमों की जान ले ली है। यह एक तरह का दिमागी बुखार है जो सिधे दिमाग पर असर करता है।इस बीमारी का प्रकोप अब तक सीतामढ़ी, शिवहर, मोतिहारी और वैशाली के इलाकों को अपने चपेट में ले चुका है।

क्या है चमकी बुखार?

चमकी बुखार या जापानी एनसिफेलिटिस(Japanese encephalitis) नामक बीमारी चावलों के खेतों में पनपने वाले मच्छरों से फैलती है यह मच्छर जापानी एनसिफेलिटिस वायरस(Virus) से संक्रमित होते हैं।

यह मच्छर जिसे काटते हैं उन्हें यह बीमारी हो जाती है। सिरदर्द, तेज बुखार, गर्दन में अकड़न, घबराहट, कोमा में चले जाना, कंपकंपीं, कभी-कभी ऐंठन (विशेष रूप से छोटे बच्चों में) इस बीमारी के कुछ गंभीर लक्षण हैं।


यह बीमारी लगभग 5 से 15 दिन रहती है। बता दें कि यह बीमारी मुख्यत: दक्षिण पूर्वी एशिया(Southern east asia) में फैलती है और यह अलग देशों में अलग अलग समय पर होती है।

यह वायरस इंडोनेशिया(Indonesia) और मलेशिया(Maleshiya) के इलाकों में सन् 1500 के मध्य में पनपा था। हर साल लगभग 70000 लोग इस बिमारी से संक्रमित होते हैं। डाक्टरों के अनुसार यह बीमारी अत्यधिक गर्मी और हवा में नमी 50 फीसदी से ज्यादा होने की वजह से होती है।


Share it
Top