Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

बिहार में दिखा देशभक्ति का ऐसा जज्बा, कमर भर पानी में डूबकर फहराया तिरंगा

बिहार के पश्चिम चंपारण के अधिकारियों ने बाढ़ के पानी में कमर तक डूब तिरंगा फहराया।

बिहार में दिखा देशभक्ति का ऐसा  जज्बा, कमर भर पानी में डूबकर  फहराया तिरंगा

आज पूरे देश में आजादी का पर्व पूरे जश्न और जोश के साथ मनाया जा रहा है। ऐसे में बिहार में जश्न-ए-आजादी का जज्बा देखते ही बनता है। बिहार के पश्चिम चंपारण के अधिकारियों ने बाढ़ के पानी नाव पर खड़े होकर तिरंगा फहराया।

इतना ही नहीं देश के जवानों ने कमर भर पानी में खड़े होकर तिरंगे को सलामी दी। बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित बिहार के बगहा में जलजला और तबाही के बीच स्वतंत्रता दिवस मनाया गया। यहां पानी से डूबे अनुमंडलीय मैदान में अनुमंडल पदाधिकारी (एसडीएम) धर्मेद्र कुमार ने अपने अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ राष्ट्रीय ध्वज फहराया।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान ने किया सीजफायर का उल्लंघन, एक महिला की गोली लगकर हुई मौत

बगहा के पुलिस अधीक्षक शंकर झा भी स्वतंत्रता दिवस के मौके पर जश्न-ए-आजादी के रंग में सरोबोर दिखाई दिए। उन्होंने कमर के ऊपर बाढ़ के पानी में पुलिस केंद्र में ध्वजारोहण किया।

इससे पहले एसडीएम और पुलिस अधीक्षक नाव पर सवार होकर बगहा पुलिस केंद्र पहुंचे और झंडे को सलामी देने के लिए कमर भर पानी में खड़े रहे। सलामी देने के लिए बिहार पुलिस, गृह रक्षा वाहिनी के जवानों ने बाढ़ के पानी में खड़े होकर परेड में भाग लिया।

बता दें कि कि बगहा शहर पूरी तरह बाढ़ की चपेट में है। बगहा में बाढ़ के कारण यातायात व्यवस्था पूरी तरह ठप है। बाढ़ का असर बिजली व्यवस्था पर भी पड़ा है। कई स्थानों पर बिजली के खंभे गिर गए हैं, जिसके कारण पिछले दो दिनों से बिजली आपूर्ति ठप है।

इसे भी पढ़ें: बिहार में बाढ़ से हाहाकार, 12 जिलों में अब तक 41 की मौत

मालूम हो कि कि बिहार के सीमांचल में स्थित 12 से ज्यादा जिलों में बाढ़ की स्थिति गंभीर बनी हुई है। जिसमे पुर्णिया, कटिहार, किशनगंज, दरभंगा आदि जिलों के बहुत सारे गांव बाढ़ की त्रासदी से त्रस्त हैं। राज्य के विभिन्न जिलों के करीब 65.40 लाख की आबादी बाढ़ की चपेट में है, जिसके कारण 41 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

Next Story
Top