Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

अंतरजातीय विवाह से गुस्साए भाई ने बहन पर चाकू से किया हमला, हालत गंभीर

इक्कीसवीं सदी में जहां देश चांद पर पहुंच गया है, वहां जीवन की संभावनाओं की तलाश चल रही है, वहीं जातिवाद की जड़ें अब तक समाज में खत्म नहीं हो पाई हैं। ताजा मामला बिहार से आया है। यहां अंतरजातीय विवाह से नाराज भाई ने अपनी बहन को खबू समझाया लेकिन जब वह अपने पति के साथ ही रहने पर अड़ी रही तो उसपर चाकू से हमला कर दिया।

अंतरजातीय विवाह से गुस्साए भाई ने बहन पर चाकू से किया हमला, हालत गंभीरतBihar: Sister Critical Injured After Brother Attacked With Knife For Intercaste Marriage

इक्कीसवीं सदी में जहां देश चांद पर पहुंच गया है, वहां जीवन की संभावनाओं की तलाश चल रही है, वहीं जातिवाद की जड़ें अब तक समाज में खत्म नहीं हो पाई हैं। ताजा मामला बिहार से आया है। यहां अंतरजातीय विवाह से नाराज भाई ने अपनी बहन को खबू समझाया लेकिन जब वह अपने पति के साथ ही रहने पर अड़ी रही तो उसपर चाकू से हमला कर दिया। यही नहीं गला रेतकर उसकी हत्या का प्रयास भी किया। इसके बाद आस-पास के लोगों ने जब पुलिस को सूचना दी तो पुलिस मौके पर पहुंची और उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया।

यह मामला सिकंदरा थाना क्षेत्र के दरखा गांव में यह मामला सोमवार को हुआ। पुलिस ने लड़की को उपचार के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया है। यहां उसकी हालत गंभीर बताई जा रही है। खबरों के मुताबिक पूजा कुमारी बीते कुछ दिनों से अपने प्रेमी प्रभाकर के साथ रहने की जिद पर अड़ी थी। उसका भाई मनीष कुमार उसे छोड़ने के लिए दबाव बना रहा था। लेकिन जब उसने इस बात को मानने से इनकार कर दिया तो भाई ने अपनी ही बहन पर चाकू से हमला कर दिया। इस हमले में वह गंभीर रूप से घायल हो गई।



पूजा इसके बाद भी अपनी बात पर अड़ी रही तो उसके भाई ने गला रेतकर हत्या करने की कोशिश की। गंभीर रुप से घायल पूजा अपने भाई के खिलाफ कुछ भी बोलने से इनकार करती रही। वह अभी अलीगढ़ के प्लस टू उच्च विद्यालय में इंटर की छात्रा है। बताया जा रहा है कि पूजा अब तक तीन बार अपने प्रेमी के साथ भाग चुकी है। वह प्रभाकर के प्रेम में इतना डूब गई थी कि उसने घरवालों के दबाव के बावजूद महादेव सिमरिया मंदिर में कुछ दिन पहले शादी कर ली थी। फिर अपने प्रेमी के साथ भागकर मुंबई चली गई थी।

इसके बाद जब मुंबई पुलिस को सूचना मिली तो पुलिस दोनों को कोर्ट से आदेश लेने के बाद 26 अगस्त को सिकंदरा पहुंचा गई थी। तीन महीने पहले उसके पिता ने सिकंदरा थाने में लड़की को भगा ले जाने के आरोप लगाते एफआईआर दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने तलाश की तो पता चला कि प्रेमी युगल कुर्ला में है। जहां मुंबई पुलिस ने युवती को रिमांड होम में रखा था।



फिर मुंबई कोर्ट के आदेश के बाद सिकंदरा की पुलिस ने पूजा और प्रभाकर कुमार को जमुई लाकर कोर्ट भेजा। जहां लड़की को मेडिकल के उपरांत घर भेज दिया गया। जबकि प्रेमी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। सदर एसडीपीओ रामपुकार सिंह बुधवार को युवती से मिलने के लिए अस्पताल पहुंचे और उसका हाल-चाल जाना। काफी देर तक घायल लड़की से पूछताछ की। हालांकि युवती इस दौरान अपने भाई को बचाने की कोशिश करती रही और कुछ भी बताने से मना करती रही।

Next Story
Top