Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

शरद यादव गुट करेगा JDU के चुनाव चिन्ह पर दावा

शरद यादव गुट जेडीयू राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का बहिष्कार करेंगे।

शरद यादव गुट करेगा JDU के चुनाव चिन्ह पर दावा

बागी नेता शरद यादव का गुट जेडीयू पार्टी के चुनाव चिन्ह तीर पर अपना दावा करेगा। यादव गुट जल्द ही चुनाव आयोग जाएगा।

पार्टी महासचिव पद से हटाए गए अरुण श्रीवास्तव और राज्यसभा सांसद अली अनवर ने शुक्रवार को कहा, शरद यादव और उनके समर्थक शनिवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का बहिष्कार करेंगे।

यह गुट श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में अपनी अलग बैठक करेगा। नीतीश कुमार इसी दौरान पार्टी कार्यकारिणी की बैठक कर रहे होंगे। अनवर ने कहा, नीतीश सत्ता का दुरूपयोग कर रहे हैं।

शरद गुट ही असली जेडीयू

अरुण श्रीवास्ताव ने कहा, शरद गुट ही असली जेडीयू है। पार्टी के 14 राज्यों के अध्यक्ष उनके साथ हैं। इनमें से छह-सात अध्यक्ष साझी विरासत सम्मेलन में शामिल हुए थे। नीतीश कुमार तानाशाह की तरह व्यवहार कर रहे हैं।

उन्होंने ना सिर्फ मुझे महासचिव के पद से हटाया बल्कि अली अनवर अंसारी को राज्यसभा में पार्टी के उप नेता पद से और शरद को भी सदन नेता पद से हटा दिया।

उन्होंने कहा, हम सब राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सामने अपनी बात कहना चाहते थे, लेकिन नीतीश ने हम तीनों को बिना कोई नोटिस दिए ही हटा दिया। इसलिए हमने कार्यकारिणी का बहिष्कार कर पटना में उसी वक्त अपनी बैठक करने का फैसला लिया है।

शरद सबसे पुराने नेता

अरुण ने कहा, जेडीयू में शरद सबसे पुराने नेता हैं। नीतीश तो समता पार्टी के नेता थे। इसलिए जेडीयू के संस्थापक शरद हैं। हम चुनाव आयोग को यही बात बताकर तीर चुनाव चिन्ह की मांग करेंगे। नीतीश कुमार को पार्टी के दस सांसदों और 71 विधायकों के अलावा केवल पांच राज्यों का समर्थन प्राप्त है।

अब आमने-सामने आए शरद-नीतीश

बता दें कि शरद यादव ने गुरुवार को दिल्ली में साझा विरासत बचाओ सम्मेलन किया था। इसमें राहुल गांधी समेत कांग्रेस, राजद और अन्य दल के कई नेता आए थे। बिहार में भाजपा के साथ सरकार बनाने के बाद नीतीश और शरद यादव आमने-सामने आ गए हैं। पिछले दिनों अमित शाह से मुलाकात के बाद नीतीश ने कहा था, शरद यादव अपना रास्ता चुनने के लिए स्वतंत्र हैं। पूरी पार्टी से विचार के बाद ही हमने यह फैसला लिया था।

Next Story
Top