Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

JDU में बढ़ी तकरार, 17 सितंबर को शरद ने बुलाई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

जेडीयू की 18 सितंबर को होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक अब आठ अक्टूबर को होगी।

JDU में बढ़ी तकरार, 17 सितंबर को शरद ने बुलाई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक
X

केंद्र में सत्तारूढ़ राजग में जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के शामिल होने का विरोध कर रहे पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव की अगुवाई वाले असंतुष्ट गुट ने आगामी 17 सितंबर को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है।

जदयू के महासचिव अरुण कुमार श्रीवास्तव ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 17 सितंबर को दिल्ली में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होगी जबकि 18 सितंबर को होने वाली राष्ट्रीय परिषद की बैठक अब आठ अक्टूबर को होगी।

इस बीच बिहार के सीएम नीतीश कुमार की अगुवाई वाले गुट को ही जदयू का मौजूदा चुनाव चिन्ह आवंटित किए जाने का प्रतिवेदन शुक्रवार को निर्वाचन आयोग के समक्ष पेश किया गया।

जद यू संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह और पार्टी नेता केसी त्यागी ने आयोग में प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। त्यागी ने बताया कि जदयू के सभी पदाधिकारियों और विधायिका के विभिन्न सदनों के लिए निर्वाचित प्रतिनिधियों के जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के साथ होने के आधार पर आयोग से पार्टी का चिन्ह उनके गुट को आवंटित करने की मांग की गई।

त्यागी ने शरद यादव गुट द्वारा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आहूत करने के सवाल पर कहा कि यह अधिकार पार्टी अध्यक्ष के रूप में नीतीश कुमार का है।

नीतीश कुमार गुट के प्रतिवेदन के बारे में श्रीवास्तव ने कहा कि नीतीश गुट के साथ भले ही विधायक और सांसद हों, लेकिन पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी और प्रदेश इकाइयां शरद यादव के साथ हैं। उन्होंने दलीद दी कि कोई भी पार्टी विधायकों और सांसदों से नहीं बल्कि पदाधिकारियों से बनती है।

उन्होंने शरद यादव के स्वयं पार्टी से अलग होने के नीतीश गुट के दावे को गलत बताते हुए कहा कि जदयू के संविधान की धारा 10 के मुताबिक पार्टी के निर्णय के खिलाफ जाने वाला सदस्य स्वत: पार्टी से बाहर माना जाता है।

श्रीवास्तव ने कहा कि पार्टी की पिछली कार्यकारिणी की बैठक में संघ मुक्त भारत का प्रस्ताव पारित किया गया था, यादव पार्टी के इस फैसले के साथ हैं। इसलिए पार्टी के फैसले का उल्लंघन यादव ने नहीं राजग में शामिल होकर कुमार ने किया है।

श्रीवास्तव ने कहा कि नीतीश कुमार यादव को राज्य सभा की सदस्यता खत्म करने की धमकी न दें। यादव पहले भी दो बार सांसद पद से इस्तीफा दे चुके हैं।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story