Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Bihar : राजद के बागी नेता ने कहा- वंशवाद की राजनीति से तंग आ गए हैं लोग, तेजस्वी दें इस्तीफा

लोकसभा चुनाव 2019 में राजद की करारी हार के बाद पार्टी के अंदर बगावत की सुर आने लगे हैं। राजद के बागी नेता महेश यादव ने तेजस्वी यादव को विपक्ष के नेता के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि लोग वंशवाद की राजनीति से तंग आ चुके हैं।

Bihar : राजद के बागी नेता ने कहा- वंशवाद की राजनीति से तंग आ गए हैं लोग, तेजस्वी दें इस्तीफा

लोकसभा चुनाव 2019 में राजद की करारी हार के बाद पार्टी के अंदर बगावत की सुर आने लगे हैं। राजद के बागी नेता महेश्वर यादव ने तेजस्वी यादव को विपक्ष के नेता के पद से इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि लोग वंशवाद की राजनीति से तंग आ चुके हैं। उन्होंने आगे कहा कि मैं नाम नहीं लूंगा लेकिन कई विधायक हैं जो अब घुटन महसूस कर रहे हैं। अगर तेजस्वी इस्तीफा नहीं देते हैं तो पार्टी टूट जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि अगर उन्होंने मेरी बात नहीं मानी गई तो पार्टी छोड़ने पर भी विचार कर सकता हूं।

मुजफ्फरपुर के गायघाट से विधायक महेश्वर यादव ने मीडिया से कहा कि राजद परिवारवाद की जकड़ में है। इसी वजह से लोकसभा चुनाव 2019 में इतनी दुर्गति हुई है। 1997 में जब लालू जेल जा रहे थे तब भी मैंने कहा था कि राबड़ी की जगह किसी अन्य अनुभवी नेता को सीएम की कुर्सी पर बैठाया जा सकता है। उस समय भी लालू परिवारवाद के मोह में गलत फैसला ले लिए और राबड़ी को सीएम बना दिए। इसी वजह से राजद विधानसभा में 22 व लोकसभा में 4 सीटों पर सीमट गई थी।

बागी नेता ने कहा कि अगर लालू नीतीश से नहीं मिले होते तो उनकी पार्टी वापसी भी नहीं कर पाती। नीतीश के साथ कमबैक करने के बाद भी उनका परिवार से मोह नहीं छूटा। उन्होंने अपने बेटे को नंबर दो की कुर्सी पर बैठा दिया। लालू व उनके बेटों की वजह से नीतीश की छवि जब खराब होने लगी तो उन्होंने भी साथ छोड़ दिया और भाजपा का दामन थाम लिए।

महेश्वर यादव ने कहा कि नीतीश से साथ छूटा फिर भी वे नहीं संभले। उन्होंने अब्दुल बारी जैसे अनुभवी नेता को नजरदांज करते हुए अपने बेटे तेजस्वी को विधायक दल का नेता चुना। परिवारवाद के जकड़ में गलत फैसले लेते गए और लोकसभा चुनाव में उनको परिणाम मिल गया, राज्य में खाता तक नहीं खुला। राजद की यह दुर्गति केवल परिवारवाद के वजह से हुई है।

Next Story
Top