Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

सफाई कर्मचारियों ने मरे हुए कुत्तों को लटकाकर किया प्रदर्शन, यूजर्स पूछ रहे ये अधिकार किसने दिया

बिहार में सफाई कर्मचारियों को हटाकर निजी कंपनी को ठेका दिया गया है। जिसके बाद सफाई कर्मचारियों ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया है। प्रदर्शन के दौरान मरे हुए कुत्तों को लटका दिया। जिसके बाद यूजर्स पूछ रहे हैं कि यह अधिकार इन्हें किसने दिया।

सफाई कर्मचारियों ने मरे हुए कुत्तों को लटकाकर किया प्रदर्शन, यूजर्स पूछ रहे ये अधिकार किसने दियापटना में प्रदर्शन करते सफाई कर्मचारी

बिहार के पटना में सफाई कर्मचारियों का मानवता को शर्मसार करने वाला प्रदर्शन देखने को मिला है। सफाई कर्मचारियों ने नगर विकास मंत्री सुरेश शर्मा और मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के नाम पर मरे हुए कुत्तों को लटकाकर प्रदर्शन किया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर इसकी जमकर आलोचना हो रही है।

बिहार में सफाई कर्मचारियों को हटाकर निजी कंपनी को ठेका दिया गया है। जिसके बाद सफाई कर्मचारियों ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया है। पटना में किए गए प्रदर्शन के दौरान मरे हुए कुत्तों को चौराहे पर लटकाया गया है। इसके बाद मुख्यमंत्री और नगर विकास मंत्री के नाम पर उनका नामकरण किया गया है। भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने इसका समर्थन करते हुए फोटो साझा किए हैं।

सोशल मीडिया पर आलोचना शुरू

सफाई कर्मचारियों के प्रदर्शन में मरे हुए कुत्तों को लटकाने पर आलोचना शुरू हो गई है। यूजर्स पूछ रहे हैं कि यह अधिकार किसने उन्हें दिया है। पत्रकार साक्षी जोशी ने चंद्र शेखर आजाद से पूछा है कि इन बेजुबानों के साथ इस तरह अत्याचार करने का अधिकार हमें किसने दिया? विरोध के लिए इस स्तर तक न गिरें। बेहद दुर्भाग्यपूर्ण । मुझे हैरानी है खुद को इंसान कहने वाले वहां खड़े होकर तमाशा देख रहे हैं?

इसके बाद पत्रकार दिलीप मंडल ने मामले में सफाई दी है। उन्होंने लिखा कि जिंदा इंसानों की जिंदगी बचाने के लिए मर चुके कुत्तों को सड़कों से लाकर टांगा है। किसी पर कोई अत्याचार नहीं हुआ। आलोचना करने की बजाए चैनलों को इन सफाई कर्मचारियों की व्यथा कथा पर कार्यक्रम करना चाहिए। सफाई कर्मचारी 10 दिन काम न करें तो देश की 10-20% आबादी बीमार होकर मर जाएगी

इसके बाद पत्रकार साक्षी जोशी ने इसको लेकर करारा जवाब दिया है। साक्षी जोशी ने कहा कि आप चाहते तो उनके शव वहां रख भी सकते थे। लटकाकर आपने वही सोच दिखाई है जिसके खिलाफ आप लड रहे हैं। बेहद निर्दयी तस्वीर है। पर कुतर्क के कई तरीके हैं आप लोग करते रहिए।


Next Story
Top