Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल हुए 8 नए मंत्रियों को लेकर राजनीति, जानें किस नेता ने क्या कहा

बिहार में भाजपा और लोजपा के साथ सत्ता में शामिल जदयू से आठ मंत्रियों को रविवार को नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। इसको लेकर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि जेडीयू ने खाली पदों को भरने के लिए भाजपा को ऑफर दिया था।

नीतीश मंत्रिमंडल में शामिल हुए 8 नए मंत्रियों को लेकर राजनीति, जानें किस नेता ने क्या कहा
X

बिहार में भाजपा और लोजपा के साथ सत्ता में शामिल जदयू से आठ मंत्रियों को रविवार को नीतीश कुमार मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। इसको लेकर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने कहा कि जेडीयू ने खाली पदों को भरने के लिए भाजपा को ऑफर दिया था।

पटना स्थित राजभवन में रविवार को आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान राज्यपाल लालजी टंडन ने जदयू नेता अशोक चौधरी, नरेंद्र नारायण यादव, बीमा भारती, संजय झा, नीरज कुमार, रामसेवक सिंह, श्याम रजक और लक्ष्मेश्वर राय को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी सहित राज्य मंत्रिमंडल के कई अन्य मंत्री उपस्थित थे।

केंद्रीय मंत्रिमंडल में जदयू को उचित प्रतिनिधित्व नहीं दिए जाने की वजह से आज बिहार मंत्रिमंडल के विस्तार में भाजपा को स्थान नहीं दिए जाने की चर्चा के बीच शपथग्रहण समारोह के बाद नीतीश ने स्पष्ट किया ''जदयू की रिक्तियां थीं इसलिएमंत्रिमंडल का विस्तार हुआ है और कोई भी रिक्ति रहेगी तो कभी भी हो सकता है। अभी सिर्फ जदयू का ही था और जिनकी इक्का दुक्का रिक्तियां हैं वह कभी भी हो सकता है।

नीतीश ने सब कुछ ठीक होने और इसको लेकर कोई गलतफहमी मन में नहीं रखने :जदयू और भाजपा के बीच: की बात करते हुए संवाददाताओं को बताया कि मंत्रिमंडल में जदयू के कोटे से मंत्रियों की संख्या पहले से पांच कम थी और लोकसभा चुनाव में तीन मंत्रियों के सांसद चुने जाने के बाद अब यह संख्या बढ़ कर आठ हो गयी थी। उन्होंने कहा कि विभागों की संख्या अधिक और मंत्रियों की संख्या कम रहने तथा आसन्न बिहार विधानमंडल के सत्र को ध्यान में रखते हुए मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने शपथ ग्रहण समारोह के बाद संवाददाताओं से बातचीत में स्पष्ट किया ''मुख्यमंत्री ने कल ही आग्रह किया था कि जो रिक्तियां हैं उन्हें भाजपा भर सकती है, पर हमारी पार्टी के नेतृत्व ने तय किया है कि आगामी दिनों में इसे भरा जाएगा । हमारी रिक्तियां कम हैं। पहले से ही 13 मंत्री हैं।

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल में जदयू की रिक्तियां अधिक होने के मद्देनजर उन्होंने इसे तत्काल भरने का निर्णय लिया। लोकसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में जदयू के प्रतिनिधित्व और उसकी कथित नाराजगी के बारे में पूछे जाने सुशील ने कहा कि वह उनका विषय नहीं है और उस पर वह कोई टिप्पणी नहीं करेंगे पर जहां तक बिहार का सवाल है, बिहार में राजग 200 प्रतिशत एकजुट है।

इस बीच जदयू के राष्ट्रीय महासचिव के सी त्यागी से मंत्रिमंडल के विस्तार को लेकर पूछा गया कि क्या बदला पूरा हो गया, तो उन्होंने कहा कि राज्य मंत्रिमंडल में कई जगहें खाली थीं और अधिकतर रिक्तियां जदयू से थीं इसलिए बिहार विधानमंडल के आसन्न सत्र को ध्यान में रखकर मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया है। ''यह न कोई बदला है और न कोई राजनीति है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार केंद्र में मंत्रियों का चयन और विभाग का वितरण प्रधानमंत्री का विशेषाधिकार है उसी प्रकार से राज्य में मंत्रिमंडल का विस्तार और विभागों का वितरण मुख्यमंत्री का विशेषाधिकार है। त्यागी ने यह भी स्पष्ट किया कि केंद्रीय मंत्रिमंडल में जाने का निकट भविष्य में प्रश्न ही पैदा नहीं होता। जदयू के जिन नेताओं को आज मंत्री पद की शपथ दिलायी गयी उनमें से तीन बिहार विधानसभा सदस्य श्याम रजक, नरेंद्र नारायण यादव, बीमा भारती, रामसेवक सिंह और लक्ष्मेश्वर राय तथा बिहार विधान परिषद सदस्य अशोक चौधरी, संजय झा एवं नीरज कुमार शामिल हैं। लोकसभा चुनाव के बाद नीतीश कैबिनेट से तीन मंत्रियों ललन सिंह, पशुपति कुमार पारस और दिनेश चंद्र यादव ने इस्तीफा दे दिया था।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story