Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

राष्ट्रपति चुनाव: मोदी के दलित कार्ड से टूटा विपक्ष, JDU का विपक्ष की बैठक से किनारा

पिछले महीने लालू यादव ने कुछ ऐसा ट्वीट किया था जिसका मतलब था कि नीतीश कुमार फिर बीजेपी का हाथ पकड़ने वाले हैं।

राष्ट्रपति चुनाव: मोदी के दलित कार्ड से टूटा विपक्ष, JDU का विपक्ष की बैठक से किनारा

पीएम नरेंद्र मोदी का राष्ट्रपति चुनाव में दलित कार्ड चल पड़ा। राजग प्रत्याशी रामनाथ गोविंद के समर्थन में जद-यू आ गया है। इससे पहले काेविंद को टीआरएस, बीजेडी, अन्नाद्रमुक, वाईएसआर कांग्रेस, शिवसेना ने समर्थन देने का ऐलान कर दिया है।

बताया जाता है कि बुधवार को नीतीश ने पटना में जेडीयू विधायकों की बैठक बुलाई थी और उसमें कोविंद को समर्थन देने का ऐलान किया। बाद में जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने कोविंद को समर्थन का औपचारिक ऐलान किया।

उन्होंने कहा कि गुरुवार को होने वाली विपक्ष की बैठक में जेडीयू शामिल नहीं होगी। जेडीयू का एनडीए उम्मीदवार को समर्थन विपक्ष की एकता के लिए बहुत बड़ा झटका है। नीतीश के इस कदम से बिहार में महागठबंधन के भविष्य को लेकर भी कयासों के नए दौर की शुरुआत हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- रामनाथ कोविंद को जेडीयू ने दिया समर्थन, नीतीश ने लिया फैसला

सियासी गलियारों में काफी लंबे समय से जेडीयू और आरजेडी के रिश्तों में तल्खी के कयास लग रहे हैं। दोनों दलों के रिश्तें में तल्खी की अटकलों को उस वक्त बल मिला जब भाजपा नेता सुशील मोदी के लालू परिवार पर बेनामी संपत्ति के आरोपों के बाद कोई भी जेडीयू नेता लालू परिवार के बचाव में आगे नहीं आया।

लालू यादव के परिजनों के ठिकानों पर पिछले महीने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के छापों के बाद लालू यादव ने कुछ ऐसा ट्वीट किया था जिसका मतलब था कि नीतीश कुमार फिर बीजेपी का हाथ पकड़ने वाले हैं। लालू ने ट्वीट कर कहा था कि बीजेपी को नए अलायंस पार्टनर्स मुबारक हों।

हालांकि बाद में उन्होंने सफाई दी कि पार्टनर्स से उनका मतलब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट और दूसरी सरकारी एजेंसियों से था।

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर 22 जून को विपक्षी दलों की बैठक होने वाली है। राजद के नेता भाई वीरेन्द्र ने कहा कि नीतीश कुमार ने पहले भी विपक्षी एकजुटता को कमजोर करने का काम किया है।

Next Story
Top